कोविड से होने वाली मौतों की संख्या ने बढ़ाई चिंता

0
156

दिल्ली | देश में एक बार फिर कोरोना ने अपने पैर पसार लिए है। कोरोना की दूसरी लहर दिन पर दिन भारत के लिए एक मुसीबत बनती जा रही है। स्तिथि तो यह है कि कई जगहों पर एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने की ज़रुरत पड़ सकती है ओर कई जगहों पर पहले से ही नाईट कर्फ्यू की घोषणा कर दी गई है।

महाराष्ट्र, गुजरात और मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों में महामारी ने विकराल रूप धारण कर लिया है, इस पर नियंत्रण पाने के लिए कई तरह की पाबंदियां लगाईं जा रही हैं। वहीं देश में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 53 हजार से अधिक कोरोना मरीज मिले हैं और 354 की संक्रमण से जान चली गई है। एक दिन पहले की तुलना कोरोना से मरने वालों संख्या में हुए वृद्धि ने चिंता बढ़ा दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह बुधवार को यह जानकारी दी।

यह भी पढ़े – क्या आपने खाएं हैं बंगाल के जयनगर के लड्डू ?

देश में कोरोना वायरस के सक्रिय मामलों में लगातार बेताहाशा बढ़ोतरी जारी है। सक्रिय मामलों में बढ़ोतरी के साथ ही कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा भी एक बार फिर रफ्तार पकड़ रहा है। महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और गुजरात में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं और इन्हीं राज्यों में मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है।

कोविड से होने वाली मौतों की संख्या ने बढ़ाई चिंता
स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में मामूली गिरावट के साथ  53,480 नए मामले दर्ज किए गए हैं, इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,21,49,335 पहुंच गए हैं। वहीं पिछले 24 घंटे में इस जानलेवा संक्रमण से 354 लोगों की जान गई है, इसी के साथ मरने वालों की संख्या 1,62,468 पहुंच गई है। इससे पहले मंगलवार को कोरोना से 271 लोगों की जान गई थी। एक दिन बाद मौतों की संख्या ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

यह भी पढ़े – डब्लूएचओ रिपोर्ट में चीन को क्लीन चिट,14 देश असहमत

भारत में कोविड-19 के मामले पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख के पार चले गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे। वैश्विक महामारी से संक्रमण के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ की संख्या पार कर गए थे।

यह भी पढ़े – प्रदेश में बढ़ते कोरोना ने बढ़ाई सरकार की चिंता – एक बार फिर स्कूल बंद करने के आदेश

मंगलवार को कोरोना के 10,22,915 सैंपल का हुआ टेस्ट

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, भारत में मंगलवार तक कोरोना वायरस के लिए कुल 24,36,72,940 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 10,22,915 सैंपल कल टेस्ट किए गए।

16 जनवरी को शुरू हुआ था टीका

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि मंगलवार शाम सात बजे तक 12,94,979 टीके की खुराकें दी गई हैं। यह राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू होने का 74वां दिन है जो 16 जनवरी को शुरू हुआ था। शाम सात बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें से 11,77,160 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक लगाई गई है जबकि 1,17,819 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है।

 

नए मामलों में कोरोना के ब्रिटेन स्ट्रेन सबसे अधिक

वायरस के स्वरूपों के बारे में स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि 10 लैब्स ने दिसंबर से अब तक 11,064 नमूनों की ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ की है, जिनमें से 807 नमूनों में ब्रिटेन में मिला कोरोना वायरस का नया स्वरूप पाया गया, जबकि 47 नमूनों में वायरस का दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप मिला तथा, एक नमूने में वायरस का ब्राजीलियाई स्वरूप मिला।

यह भी पढ़े – उत्तराखंड आना है तो कोरोना नेगेटिव सर्टिफिकेट साथ लाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here