उत्तराखंड आना है तो कोरोना नेगेटिव सर्टिफिकेट साथ लाएं

0
213

द लीडर देहरादून

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या एक लाख के पार हो जाने के साथ ही सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है। दिल्ली, यूपी, हरियाणा समेत ज्यादा प्रभावित 12 राज्यों के लोग अब बिना
कोरोना नेगेटिव सर्टिफिकेट के राज्य में प्रवेश नहीं पा सकेंगे। कुम्भ आ रहे यात्रियों पर भी 1 अप्रैल से यह आदेश लागू होगा।
मुख्य सचिव ओम प्रकाश की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि 65 साल से अधिक और 10 साल से कम उम्र के लोगों के बेहतर है कि यहां की यात्रा न करें। सोशल डिस्टेनसिंग समेत केंद्र व राज्य सरकार संबंधी नियमों की अनदेखी पर आपदा प्रबंधन एक्ट, महामारी एक्ट और आईपीसी की सम्यक धाराओं में कार्रवाई की जाएगी।
महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पंजाब और राजस्थान के यात्रियों के पास कोविड नेगेटिव सर्टिफिकेट होना जरूरी है।
उत्तराखंड में अब 100118 कोरोना संक्रमित मरीज हो गए है। आज 128 कोरोना मरीज मिले हैं इसके अलावा 2 मरीजों की मौत भी हो गई है । सबसे ज्यादा देहरादून में 188 नए कोरोनावायरस संक्रमित मरीज मिले हैं इसके अलावा हरिद्वार में 39 नैनीताल में 19 पौड़ी में 33 पिथौरागढ़ में तीन रुद्रप्रयाग में दो टिहरी में 8 उधम सिंह नगर में 71 उत्तरकाशी में छह चंपावत में चार चमोली में बीज और अल्मोड़ा में 6 कोरोना संक्रमित मरीज मिले ।
देहरादून के सरस्वती सोनी मार्ग लक्ष्मण चौक में कोरोना वायरस संकमित व्यक्तियों के पाये जाने के फलस्वरूप एक इलाक़े को कनटेन्मेंट क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। ऋषिकेश में हरिपुर कलां इलाके को भी सील कर दिया गया है। इस तरह देहरादून जिले में पांच क्षेत्रऔर टिहरी में होटल ताज कन्टेनमेंट जोन बन चुके हैं।

आश्रम में 32 संक्रमित

हरिपुर कलां स्थित एक आश्रम में 32 कोरोना संक्रमित श्रद्धालु मिलने से हरिद्वार में हड़कंप मच गया। मामले में तत्काल कार्यवाई करते हुए प्रशासन ने आश्रम को सील कर दिया है। संक्रमितों में आश्रम के कर्मचारी, विद्यार्थी और वृद्ध शामिल हैं। आशंका जताई जा रही है कि किसी श्रद्धालु के संपर्क में आने से सभी लोग संक्रमित हुए। फिलहाल संक्रमितों को आश्रम के विद्यालय में आइसोलेट किया गया है।

कुंभ क्षेत्र में आठ महीने बाद एक बार फिर कोरोना संक्रमण ने बड़ी दस्तक दी है। बीते साल जुलाई और अगस्त माह में औद्योगिक क्षेत्र सिडकुल में कई फैक्टरियों में बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिले थे। एक नामी कंपनी में तो 250 से अधिक कोरोना संक्रमित मिले थे। अब कुंभ से ठीक पहले इतनी बड़ी संख्या संक्रमित मिलने से मेला प्रशासन, जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग भी सकते में हैं।

हालांकि फिलहाल आश्रम को सील कर दिया है। वहीं आश्रम के अन्य कर्मचारियों की आरटीपीसीआर कोविड जांच की जा रही है। सीएमओ डा. एसके झा ने बताया कि देहरादून प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के स्तर पर संक्रमण नियंत्रण के लिए कार्यवाई की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों के चिन्हित कर सूची तैयार कर रहा है। अगर संपर्क में आए लोगों में हरिद्वार के निवासी भी शामिल होंगे तो उनकी आरटीपीसीआर कोविड जांच की जाएगी।

हरिपुर कलां की ग्राम प्रधान गीतांजलि जखमोला ने बताया कि उनके ग्राम सभा क्षेत्र में श्रद्धालुओं को आगमन अधिक रहता है। इसलिए यहां कोविड संक्रमण के फैलने का खतरा सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि इसके बावजूद क्षेत्र में कोविड टीकाकरण केंद्र नहीं बनाया गया है। वृद्ध लोगों को टीकाकरण के लिए रायवाला के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here