बहुत दिनों बाद जागीं मायावती, सियासत में आया नया उबाल

0
135

लखनऊ । UP में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है। इसके लिए सभी पार्टियाँ सक्रीय हो गई हैं। अभी तक बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती शांत दिखती आ रहीं थी लेकिन अब उन्होने बयान बाज़ी से सियासत गरमा दिया है । प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टियों ने भाजपा शासित राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाने चालू कर दिए है। 3 बार UP की मुख्यामंत्री रह चुकीं बसपा की सुप्रीमो मायावती ने उत्तरप्रदेश सरकार को घेरने के लिए बैठके चालू कर दिया है ।

यह भी पढ़े – शिवराज का पावरी अंदाज़ – वायरल मीम को किया कॉपी

बुधवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों मंडल और जिलावार पार्टी संगठन की बैठक कर निर्देश दिए हैं । प्रदेश के सभी 18 मंडल और 75 जिलों के पदाधिकारियों को क्षेत्र में तेजी से काम करने का आदेश दिया है। इसी के साथ बीएसपी सुप्रीमो ने पंचायत और विधानसभा चुनाव में भी मजबूती के साथ लगने के निर्देश दिए है।

मायावती ने 15 जनवरी को कांशीराम जयंती कार्यक्रम को सभी मंडलों पर मनाने का फैसला किया है। लखनऊ कानपुर और फैजाबाद मंडल के लोग लखनऊ में कांशीराम स्मारक स्थल पर जयंती मनाएंगे। मेरठ मंडल के लोग नोएडा स्थित प्रेरणा स्थल पर अर्पित श्रद्धांजलि करेंगे।

यह भी पढ़े – बेटी का किया गैंगरेप, बाप को ट्रक से उड़ाया – जानिए कानपुर का ये मामला

एक तीर से दो निशाने
मायावती ने बैठक में एक तीर सो दो निशाने साधे । जहाँ एक तरफ उन्होंने भाजपा की कमज़ोरियाँ बताई वही दूसरी तरफ भाजपा की मज़बूती के लिए कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा “बीजेपी अगर शक्तिशाली है और सरकार में है,तो इसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। कांग्रेस की गलत नीतियां बीजेपी मज़बूत होती चली गई। दोनों पार्टियां बीएसपी के मूवमेंट को रोकने के लिए बराबर की जिम्मेदार है। गुलाम मानसिकता वाले और समाज के बिकाऊ लोगों से सावधान रहने की जरूरत है ”

यह भी पढ़े – ममता और ओवैसी की टक्कर में मुसलमान किसको देगा वोट ?

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here