पहले पॉलीग्राफ टेस्ट फिर नार्को टेस्ट अब हो सकती है ब्रेन मैपिंग, आफताब ने स्वीकार किए सभी आरोप

0
42

The leader Hindi: श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट खत्म हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस सुबह 8.40 पर आफताब को लेकर रोहिणी के बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल पहुंची, जहां टेस्ट से पहले उसकी सामान्य जांच की गई। अधिकारियों के मुताबिक, टेस्ट 10 बजे शुरू हुआ और करीब 2 घंटे के बाद खत्म हो गया।फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) टीम ने नार्को टेस्ट की तैयारियां पूरी कर ली हैं। टेस्ट के दौरान FSL टीम के साथ डॉक्टर भी मौजूद रहेंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर नार्को टेस्ट बेनतीजा रहा तो पुलिस आफताब का ब्रेन मैपिंग टेस्ट करने की मांग भी कर सकती है। जांच में शामिल एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया कि आफताब बहुत चालाक है और कभी भी मामले में नया मोड़ ला सकता है। अभी तक वह पुलिस की हर बात मान रहा है, जांच में सहयोग कर रहा है। यहां तक कि पॉलीग्राफ और नार्को टेस्ट के लिए भी राजी हो गया। पुलिस को उसके इस अच्छे व्यवहार पर संदेह हो रहा है।


श्रद्धा ने कर लिया था आफताब से अलग रहने का फैसला, 5 दिसंबर को संभव नार्को टेस्ट 


पुलिस सूत्रों से यह जानकारी भी मिली है कि पूछताछ के दौरान आफताब बहुत ज्यादा कॉन्फिडेंट था। उसने बहुत तेजी से और रिलैक्स होकर जवाब दिया। इससे लगा कि वह पहले से सोच-समझकर जवाब देता है। पुलिस को शक यह भी है कि जब सितंबर-अक्टूबर में आफताब को मुम्बई पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया था, उस वक्त भी श्रद्धा के कुछ बॉडी पार्ट्स उसके दिल्ली वाले फ्लैट में मौजूद थे। इसके अलावा नए खुलासे में दिल्ली पुलिस ने आफताब की नई गर्लफ्रेंड से पूछताछ की है। उसने कहा कि श्रद्धा के मर्डर या उसके टुकड़ों से उसका कोई लेना-देना नहीं है। लड़की ने कहा कि जब वह आफताब से मिलने उसके घर आती थी, तो उसे अंदाजा भी नहीं था कि आफताब ने इसी घर में श्रद्धा की लाश के टुकड़े रखे थे।

बता दे रोहिणी FSL में सोमवार शाम को हुए हमले में आफताब को बचाने वाले पुलिसकर्मियों को इनाम मिला है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने तारीफ करते हुए उनको 10-10 हजार रुपए दिए हैं। आफताब को ले जा रही पुलिस वैन पर रोहिणी स्थित फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) के बाहर 4-5 लोगों ने हमले की कोशिश की थी। इनके हाथों में तलवारें थीं। पुलिस ने इन हमलावरों से आफताब को बचाया था।आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट पूरा हो गया है, जिसकी फाइनल रिपोर्ट तैयार की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूछताछ के दौरान आफताब ने कबूल किया है कि उसी ने श्रद्धा की हत्या की। साथ ही यह भी कहा कि उसको श्रद्धा की हत्या का कोई अफसोस नहीं है।मीडिया रिपोर्ट्स में टेस्ट करने वाली टीम से जुड़े सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि आफताब ने हत्या के बाद लाश जंगल में फेंकने की बात स्वीकार की है।उसने बताया कि कई लड़कियों से उसने डेटिंग ऐप के जरिए दोस्ती की।श्रद्धा की हत्या से पहले और उसके बाद भी उसके दूसरी लड़कियों से रिश्ते थे।

 

ये भी पढ़े:

पॉलीग्राफ टेस्ट में आफताब ने खोले राज, श्रद्धा को मारने की थी प्री प्लानिंग


(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)