#AssamElections: बीजेपी प्रत्याशी की कार में मिली EVM पर बवाल, 4 अफसर निलंबित

0
175

असम। चुनाव के बीच असम में चुनाव आयोग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 4 अफसरों को सस्पेंड कर दिया है. बीजेपी प्रत्याशी की गाड़ी से ईवीएम मिलने पर चुनाव आयोग ने ये कार्रवाई की है. बता दें, करीमगंज जिले में एक कार से ईवीएम बरामद किए जाने से माहौल तनावपूर्ण हो गया है. इस मामले में चुनाव आयोग ने चार मतदान अफसरों को निलंबित कर दिया है. साथ ही एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है.

यह भी पढ़े: #BengalElection 2021: ममता बनर्जी की बीजेपी को चेतावनी, जीत का किया दावा 

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया कार का वीडियो

वहीं कार से ईवीएम बरामद होने पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कार का वीडियो ट्वीट किया है. और लिखा कि, शुरुआती जांच में पता चला है कि, जिस बोलेरो गाड़ी से ईवीएम मिले वो पाथरकांडी विधानसभा सीट के बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की है.

खास बात है कि कार के साथ न तो चुनाव आयोग का कोई अधिकारी था, ना ही कार के भीतर कोई सुरक्षा थी. चुनाव आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट भी तलब की है.

यह भी पढ़े: पंचायत चुनाव को लेकर भाजपा ने 307 प्रत्याशियों की जारी की सूची! 

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, असम में दूसरे चरण के मतदान के बाद करीमगंज जिले के कनिसैल कस्बे में एक लावारिस बोलेरो मिली. इस बोलेरो में ईवीएम मशीन थी. जिस पर बवाल शुरू हो गया. बाद में पता चला कि ये बोलेरो पाथरकांडी विधानसभा सीट के बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की है.

शुरुआती रिपोर्ट में EVM के सही सलामत होने का दावा

चुनाव आयोग को डीएम से मिली शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक, पोलिंग पार्टी की गाड़ी बीच रास्ते में खराब हो गई थी, इसके बाद पीठासीन अधिकारी ने रास्ते से गुजर रही एक गाड़ी को जिला मुख्यालय पहुंचाने का आग्रह किया, गाड़ी उनको ला रही थी, पोलिंग पार्टी को शुरुआत में जानकारी नहीं थी कि जिस गाड़ी में वो लिफ्ट ले रहे हैं, वह बीजेपी विधायक और मौजूदा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार की गाड़ी है, बीजेपी विधायक कृष्णेंदु पाल की पत्नी के नाम पर गाड़ी दर्ज है.

यह भी पढ़े: #CoronaVirus: रॉबर्ट वाड्रा संग कई बॉलीवुड सेलेब्स पॉजिटिव, अमिताभ ने लगवाई वैक्सीन

लिफ्ट लेकर जब बीजेपी प्रत्याशी की गाड़ी से पोलिंग पार्टी लौट रही थी तभी स्थानीय लोगों ने इनको देख लिया और गाड़ी रोक दी, पोलिंग पार्टी के सदस्यों को स्थानीय लोगों ने गाड़ी से निकाल दिया और भीड़ हिंसात्मक भी होने लगी, रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि ईवीएम सही सलामत है, उसका सील भी नहीं टूटा है, यह वोटिंग में इस्तेमाल हुई थी. चुनाव आयोग को जिला निर्वाचन अधिकारी से दूसरी और विस्तृत रिपोर्ट का भी इंतजार है.

यह भी पढ़े: #ChandraGrahan 2021: जानिए क्यों खास है इस साल का लगने वाला चंद्र ग्रहण? 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here