BJP उम्मीदवार की कार में EVM मिलने पर बवाल : कांग्रेस ने उठाए सवाल

0
169

दिसपुर | असम के करीमगंज में भाजपा उम्मीदवार की कार से EVM मिलने का मामला सामने आया है। इस मामले में चुनाव आयोग ने वहां के जिला निर्वाचन अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है। जिस गाड़ी में ईवीएम मिली थी वह कार पाथरकांडी से भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की बताई जा रही है। EVM लावारिस बोलेरो में मिली थी। गौरतलब है कि गुरुवार को असम में दूसरे चरण का मतदान समाप्त हुआ। दूसरे चरण में 76.96 फीसदी वोटिंग हुई।

कांग्रेस ने उठाया सवाल

बीजेपी विधायक की गाड़ी में ईवीएम मिलने पर कांग्रेस ने सवाल उठाया है और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘हर बार ऐसे वीडियो सामने आते हैं, जिनमें प्राइवेट गाड़ियों में ईवीएम ले जाते हुए पकड़े जाते हैं। अप्रत्याशित रूप से उनमें कुछ चीजें कॉमन होती है- गाड़ियां बीजेपी उम्मीदवार या उनके साथियों से जुड़ी होती हैं। वीडियो एक घटना के रूप में सामने आते हैं और फिर झूठ बताकर खारिज कर दिया जाता है।’

यह भी पढ़े – #BengalElection 2021: ममता बनर्जी की बीजेपी को चेतावनी, जीत का किया दावा

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने चुनाव आयोग पर साधा निशाना

चुनाव आयोग की गाड़ी खराब हुई और भाजपा का उम्मीदवार गाड़ी लेकर पहुंच गया, कृष्णेंदु पाल की गाड़ी में चुनाव आयोग ईवीएम ट्रांसपोर्ट कर रहा था। चुनाव आयोग बताए कि आपको पूरे असम में भाजपा के उम्मीदवार की गाड़ी ही मिली? उन्होंने आगे कहा कि चुनाव आयोग ने रतबाड़ी में तो दोबारा मतदान के आदेश दे दिए हैं लेकिन ईवीएम तो पाथरकांडी के भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पाल की गाड़ी से मिली थी। चुनाव आयोग को देश को जवाब देना चाहिए कि भाजपा के जिस उम्मीदवार की गाड़ी से ईवीएम मिली थी, उसके खिलाफ क्या कार्रवाई हुई।

यह भी पढ़े – पंचायत चुनाव को लेकर भाजपा ने 307 प्रत्याशियों की जारी की सूची!

चुनाव आयोग ने 4 अफसरों को किया सस्पेंड

चुनाव आयोग ने ईवीएम मामले में पीठासीन अधिकारी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। चुनाव आयोग ने चार मतदान अफसरों को निलंबित कर दिया है और एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी है।

पिछले चुनाव में BJP ने जीती 60 सीटें

असम विधानसभा में 126 सीटें हैं। साल 2016 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 60 सीटों पर जीत मिली थी। पिछले चुनाव में बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) ने बीजेपी और एजीपी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ा था और उसने 12 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस बार में चुनाव में बीपीएफ ने कांग्रेस और एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन किया है।

यह भी पढ़े – ताइवान ट्रेन हादसा 36 मरे, 72 घायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here