ओडिशा के समुद्री तटों से 10 मई को टकरा सकता है ‘असानी’ तूफान : बिहार-झारखंड के कुछ जिलों में भी होगी बारिश

0
88

द लीडर। असानी तूफान बंगाल की खाड़ी जा पहुंचा है। ओडिशा और बंगाल में आंधी और बारिश की संभावना है। ओडिशा के पुरी गंजाम के समुद्री तटों से 10 मई को तूफान टकरा सकता है। तूफान असानी शनिवार को अंडमान सागर से बंगाल की खाड़ी में पहुंच चुका है।

ऐसे में मौसम विभाग (IMD) ने बताया है कि, ओडिशा और बंगाल में आंधी और बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने बताया कि, ओडिशा के पुरी-गंजाम के समुद्री तटों से 10 मई को तूफान टकरा सकता है। और इसकी हवा की रफ्तार 125 किमी घंटा हो सकती है।

कई जिलों में हो सकती है बारिश

इसके अलावा बिहार-झारखंड के कुछ जिलों में भी बारिश हो सकती है। समुद्री तटों के नजदीक रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजने की तैयारी में सरकार ओडिशा सरकार समुद्री तटों के नजदीक रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजने की तैयारी में है।


यह भी पढ़ें: श्रीलंका में आपातकाल की घोषणा करने के एक दिन बाद पीएम महिंदा ने दिया इस्तीफा

 

गौरतलब है कि, यहां समुद्री तटों के पास करीब 7.5 लाख लोग रहते हैं। ऐसे में तूफान के आने से उनकी जान को खतरा हो सकता है। हालांकि IMD कोलकाता के निदेशक जीके का भी बयान इस मामले में सामने आया है।

उन्होंने कहा है कि, अभी इस तूफान का रास्ता बदल सकता है और ये ओडिशा की जगह बंगाल के किसी समुद्री तट से टकरा सकता है। इस चक्रवाती तूफान का असर ओडिशा के अलावा झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल, असम, सिक्किम, आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों में दिखेगा।

धीरे-धीरे कम होगी तीव्रता

मौसम ब्यूरो के चक्रवात निगरानी विभाग के प्रभारी आनंद कुमार दास ने बताया कि, हम उम्मीद करते हैं कि आसनी सोमवार की सुबह और तेज हो जाएगा और अपनी अधिकतम तीव्रता तक पहुंच जाए।

चक्रवात 10 मई को विशाखापत्तनम से लगभग 130 किमी दूर एक बिंदु तक पहुंचने की संभावना है और फिर यह ओडिशा तट की ओर बढ़ना शुरू कर देगा। यह धीरे-धीरे कमजोर हो सकता है। 11 मई को तट के पास होने पर इसकी तीव्रता को कम कर सकती हैं। यह ओडिशा तट को नहीं छुएगा।

मौसम विभाग ने कहा कि, चक्रवात के मंगलवार से शुक्रवार तक गंगीय पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है, साथ ही कोलकाता के तटीय जिलों में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने मछुआरों को सलाह दी है कि, वे मंगलवार से अगली सूचना तक समुद्र और पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटों पर न जाएं।


यह भी पढ़ें:  विपक्ष में आने के बाद पहली बार पंजाब सीएम भगवंत मान से कांग्रेस नेता सिद्धू करेंगे मुलाकात