अब यूपी में दंगा नहीं चाहते लोग, गरीबी के खिलाफ मिलकर लड़ रहे हैं हिन्दू-मुसलमान : स्वतंत्र देव सिंह

0
169

द लीडर। उत्तर प्रदेश में दोबारा सत्ता में आने के बाद जहां योगी सरकार एक्शन मोड में है तो वहीं योगी के मंत्री भी एक्शन में नजर आ रहे है. और अपने-अपने कार्यों को बखूबी निभा रहे है. इस क्रम में उत्तर प्रदेश के बरेली पहुंचे राज्य के कैबिनेट मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि, नल के माध्यम से शुद्ध जल पहुंचाने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना 2024 तक साकार हो जाएगा.

जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि, बुंदेलखंड की प्यास भी 2024 तक बुझ जाएगी. उन्होंने कहा कि, अब लोगों को लगता है कि राजनीति सेवा है, त्याग है, तपस्या है, समर्पण है. बुंदेलखंड में अब महिलाओं को मिलों चलकर पानी लेने नहीं जाना पड़ेगा.


यह भी पढ़ें: NEET-PG परीक्षा नहीं होगी स्थगित, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की परीक्षा टालने की याचिका

 

स्वतंत्र देव सिंह ने विपक्ष पर बोला हमला

बरेली के सर्किट हाउस में उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि, अब उत्तर प्रदेश में दंगे नहीं होते है, यहां गुंडाराज नहीं है, जो भी अपराध करता है उसे उसकी सजा दी जाती है, फिर चाहे वो किसी राजनैतिक पार्टी का हो या हमारे संगठन का.

जानिए ज्ञानवापी मस्जिद पर क्या कहा ?

ज्ञानवापी मस्जिद के सवाल पर स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि, राज्य के अंदर शांति है. हिन्दू-मुसलमान सब मिलजुल कर रहे हैं. अब लोग दंगा नहीं चाहते, बल्कि हिन्दू-मुसलमान मिलकर गरीबी के खिलाफ लड़ रहे हैं.

अब उत्तर प्रदेश दंगा और गुंडागर्दी का क्षेत्र नहीं है. हिंदू-मुसलमान दोनों मिलकर विकास करना चाहते हैं. यूपी में कानून का राज. कानून अपना काम कर रहा है उसमें सरकार और संगठन किसी का हस्तक्षेप नहीं है.

जल्द पूरे किए जाएंगे सभी कार्य

कैबिनेट मंत्री ने कहा, हमारे लिए बाढ़ चुनौती है. 15 जून के बाद बरसात शुरू हो सकती है. 15 जून तक राज्य में बाढ़ से संबंधित जो कार्य चल रहे हैं उन्हें पूरा करना है ताकि गांव और खेत सुरक्षित रह सके. इसके लिए बड़े पैमाने पर काम चल रहा है. उन्होंने कहा कि धरती को बचाना है तो जल संचय करना होगा, पेड़ लगाने होंगे और स्वक्षता रखनी होगी.

पानी बर्बाद न करने की अपील

मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि, हम लोग जब किसी पार्टी या शादी में जाते हैं तो बोतल में पानी पीने के बाद उसे फेंक देते है. थोड़ा सा पानी पीने के बाद लोग बोतल फेंके नहीं बल्कि आपने साथ रखें ताकि पानी बर्बाद न हो.

उन्होंने कहा कि, जल बचाने के लिए हमें जन आंदोलन चलाना होगा. मंत्रियो द्वारा मंडल में समीक्षा की गई है और 100 दिन के कार्यकी समीक्षा की जा रही है. सभी कार्य समय से पूरे हों, उसमे कोई लापरवाही न बरती जाए.


यह भी पढ़ें:  “एक परिवार, एक टिकट” पर कांग्रेस में सहमति, ये बड़े बदलाव किये गए शामिल