राम मंदिर निर्माण के लिए अपनी लाखों की संपत्ति CM योगी को सौंपेंगे मोहम्मद गजनी, अयोध्या और भगवा से प्रेम करता है मुसलमान

0
109

द लीडर। यूपी के एक मुस्लिम परिवार ने देश और प्रदेश में संदेश देते हुए कहा कि, मुसलमान अयोध्या और भगवा से प्रेम करता है. जी हां उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर जिले में एक मुस्लिम परिवार ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अपनी 90 लाख रुपयों की निजी संपत्ति को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंपने की घोषणा की है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, मुसलमान अयोध्या और भगवा से प्रेम करता है.

दरअसल, शुक्रवार को नगर के खालापार निवासी डॉक्टर मोहम्मद समर गजनी ने घोषण की है कि, वह अपनी लगभग 90 लाख रूपये की निजी संपत्ति को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंपना चाहते हैं.


यह भी पढ़ें: मथुरा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर दर्दनाक सड़क हादसा : 7 की मौत, दो घायल, PM मोदी- CM योगी ने जताया दुख

 

जिससे इस संपत्ति को बेचकर इसका पैसा राम मंदिर निर्माण में लगाया जा सके और मुस्लिम समुदाय में ये संदेश जाये की मुस्लिम भी अयोध्या और भगवा से प्रेम करता है. बता दें कि, समर गजनी वही शख्स है, जो भगवा कपड़े पहनकर ईद की नमाज अदा कर चर्चा में आया था.

मुस्लिम समाज को दिया ये संदेश

मोहम्मद समर गजनी भाजपा अल्पसंख्यक समाज मोर्चा के पूर्व प्रदेश मंत्री रह चुके हैं. जिन्होंने आज भाजपा प्रेम और योगी आदित्यनाथ की कार्यप्रणाली से प्रभावित होकर अपनी संपत्ति को राम मंदिर के लिए दान करने की घोषणा की है.

मोहम्मद समर ने कहा कि, अयोध्या में जो राम मंदिर बन रहा है उसमे सहयोग करने के लिए वह अपनी निजी संपत्ति को सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौपना चाहते हैं, जिसको वह बेंचकर उसके पैसो को राम मंदिर निर्माण में लगाएं और एक संदेश पूरे देश के मुसलमानों को, पूरे प्रदेश के मुसलमानो को जाये कि, मुसलमान अयोध्या और भगवा से प्रेम करता है, नफरत नहीं करता है और मुस्लिम समाज 2024 में भारी तादात में योगी जी के साथ आयें.

90 लाख की प्रॉपर्टी दान देना चाहते है गजनी

उन्होंने कहा कि, योगी जी किसी धर्म के खिलाफ नहीं है, वे सिर्फ अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ हैं. हमारी ये 90 लाख रुपयों की प्रॉपर्टी है, जिसे हम अयोध्या के नाम दान करेंगे और योगी जी को देंगे.

मोहम्मद समर गजनी ईद की नमाज में जो हमने भगवा कपड़े पहने थे उसमें एक संदेश देने का मकसद था, कि, पूरे देश में एक संदेश जाये की योगी जी के कपड़ो जो भगवा रंग है, वह किसी विशेष धर्म के या हिन्दू मुस्लिम के खिलाफ नहीं है.

भगवा जो है गुंडों के खिलाफ है, ये भगवा जो है उत्तर प्रदेश को एक विशेष राज्य बनाना चाहता है जो भारत के इतिहास में एक इतिहास बन जाये जो प्रदेश को ऊंचे स्थान पर ले गए और एक सही मायनों में राम राज्य लाना चाहते हैं. जिसके लिए हिंदुओं और मुस्लिमों को भी आगे बढ़ना होगा और सबको गले लगाना होगा. 15 मई से हम घर-घर जाकर मुस्लिम समाज में ये संदेश देंगे कि योगी जी के साथ आये और दोस्ती का हाथ बढ़ाएं.


यह भी पढ़ें:  ग्रेटर नोएडा की शारदा यूनिवर्सिटी ने छात्रों से पूछा हिंदुत्व से जुड़ा सवाल… सोशल मीडिया में मचा बवाल, जानिए पूरा मामला ?