ममता की चोट पर वोट – जानिए अब तक की पूरी घटना

0
124

लखनऊ | पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चोटिल हो गई हैं। उन्होंने खुद पर हमला होने की बात कही और इसके पीछे साजिश की आशंका जताई। फिलहाल, कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

ममता के साथ कैसे हुआ हादसा?
जानकारी के मुताबिक, यह घटना शाम सवा छह बजे उस वक्त घटी, जब ममता रियापारा इलाके में एक मंदिर में प्रार्थना के बाद बिरूलिया जाने वाली थीं। उन्होंने बताया कि मैं अपनी कार के बाहर खड़ी थी, जिसका दरवाजा खुला था। मैं वहां से मंदिर में प्रार्थना कर रही थी। कुछ लोग मेरी कार के पास आए और दरवाजे को धक्का दिया। कार का दरवाजा मेरे पैर में लग गया। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि चोट लगने की वजह से उनके पैर में सूजन आ गई और उन्हें बुखार जैसा लग रहा है।

यह भी पढ़े – 22 हजार से ज्यादा कोरोना केस फिर सामने

भाजपा ने कही यह बात
ममता बनर्जी के चोटिल होने को लेकर भाजपा ने पश्चिम बंगाल पुलिस और प्रशासन पर हमला बोला। भाजपा ने सवाल पूछा कि घटना के वक्त पुलिस-प्रशासन क्या कर रहा था? मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात लोग क्या कर रहे थे? इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए।

घटना के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा मिलनी चाहिए – टीएमसी सांसद
चुनाव आयोग से मिलने के बाद टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि इस जघन्य घटना के लिए जो लोग भी जिम्मेदार हैं, उन्हें सजा मिलनी चाहिए। स्थिति इतनी खराब है कि आधे घंटे के अंदर ही अलग-अलग तरह के बयान आने लगे। उन्होंने आगे कहा कि हम ऐसे बयानों को निंदा करते हैं। डेरेक ओ ब्रायन ने आगे कहा कि डॉक्टर से बात करिए और देखिए कि क्या हुआ है।

भाजपा चुनाव आयोग से करेगी शिकायत
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमले के एक दिन बाद, जिसमें उनके पैर और गर्दन में चोटें आईं हैं, बीजेपी ने कहा है कि वह चुनाव आयोग से शिकायत करेगी कि ममता बनर्जी “राजनीति के लिए हमले के बारे में झूठ फैला रही हैं.पश्चिम बंगाल बीजेपी के उपाध्यक्ष प्रताप बनर्जी ने कहा, “हम चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिलकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हुए हमले की उच्च स्तरीय जांच की मांग करेंगे. ममता बनर्जी पर हमला कैसे हुआ, किस परिस्थिति में हुआ, किसने किया इसकी जांच बेहद जरूरी है?”

यह भी पढ़े – इस बार क्या खास है कुम्भ में

कांग्रेस नेता ने दिया विवादित बयान
कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने ममता बनर्जी को लेकर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि सहानुभूति हासिल करने के लिए यह ‘सियासी पाखंड’ है। वह नंदीग्राम के विपरीत हालात देखकर ‘नौटंकी’ कर रही हैं। वह सिर्फ सीएम ही नहीं, पुलिस की भी मंत्री हैं। क्या आप मान सकते हैं कि पुलिस मंत्री के साथ पुलिसकर्मी नहीं थे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here