”बुलंदियों का बड़े से बड़ा निशान छुआ है… उठाया गोद में मां ने तब आसमान छुआ”, CM योगी की शान में शायर मुन्नवर राणा ने गढ़े कसीदे

0
145

द लीडर।बुलंदियों का बड़े से बड़ा निशान छुआ है… उठाया गोद में मां ने तब आसमान छुआ”. ये शायरी सीएम योगी आदित्यनाथ की शान में मशहूर शायर मुन्नवर राणा ने पढ़ें है. अपने गृह प्रदेश उत्तराखंड के तीन दिवसीय दौरे पर गए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी मां से मुलाकात की थी.

इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने पैतृक गांव में रिश्तेदारों और मित्रों के साथ भी समय बिताया. सीएम योगी की मां से मुलाकात की तस्वीरें मीडिया में काफी चर्चा में रही. अब इसपर शायर मुन्नवर राणा ने प्रतिक्रिया दी है.

शायर मुन्नवार राणा क्या बोले ?

उन्होंने कहा कि, योगी अपनी मां से मिलने अपने गांव गए हैं. अपने मां के आंचल के नीचे खड़े हुए हैं. जाहिर सी बात है हमने पूरी जिंदगी की इबादत की है, मां से मोहब्बत की है. मुझे मां से मोहब्बत करने वाले लोग अच्छे लगते हैं.


यह भी पढ़ें: जोधपुर हिंसा मामले में अब तक 141 गिरफ्तार, गहलोत सरकार ने कहा- BJP और RSS ने की थी दंगा भड़काने की साजिश

 

पता नहीं यह मेरी कमजोरी है कि क्या है कि, मुझे मां से मोहब्बत करने वाले लोग अच्छे लगते हैं. मुझे दिल से बहुत अच्छा लगता है. मेरी तो मां नहीं है, जिसके पास भी मां होगी वह अपने मां से मिलता होगा तो मुझे बहुत अच्छा लगता है. मैं उसी मां को अपनी मां मान लेता हूं.

सीएम के लिए पढ़ी शायरी

इस दौरान उन्होंने सीएम योगी के मां से मुलाकात पर एक शायरी पढ़ी. शायर ने कहा कि, हमने योगी के लिए लिखा है. ‘बुलंदियों का बड़े से बड़ा निशान छुआ है उठाया गोद में मां ने तब आसमान छुआ’. यह भी मैंने योगी के लिए लिखा है.

बता दें कि, शायर मुन्नवर राणा को हमेशा बीजेपी विरोधी बयान देने के लिए जाना जाता है. हालांकि सीएम योगी के मां से मुलाकात पर उन्होंने कहा कि मुझे ऐसे लोग अच्छे लगते हैं.


यह भी पढ़ें:  Loudspeaker को लेकर हो रही राजनीति के बीच मुस्लिम धर्मगुरुओं ने बड़ा फैसला : अब सुबह की अजान बिना लाउडस्पीकर के होगी