सिर्फ आंकड़ों में घूम रहा विकास, सच तो यह है कि युवा बेरोजगार और महंगाई चरम पर है : अखिलेश यादव

0
73

द लीडर। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आज अपना बजट पेश किया. जो यूपी के इतिहास में सबसे बड़ा बजट माना जा रहा है. वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट को आंकड़ों का मकड़जाल बताया.

बजट पेश होने के बाद मीडिया से बातचीत में अखिलेश यादव ने कहा कि, यह बजट नहीं बल्कि बंटवारा है. अखिलेश यादव ने कहा कि विकास सिर्फ आंकड़ों में घूम रहा है, जबकि सच्चाई यह है कि युवा बेरोजगार है और महंगाई चरम पर है.

जानिए क्या बोले अखिलेश ?

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, महंगाई चरम पर है. युवा बेरोजगार घूम रहा है. बच्चों की पढ़ाई बर्बाद हो गई. सिर्फ आंकड़ों में विकास का मकड़जाल दिखाया जा रहा है.

अखिलेश यादव ने पूछा कि, 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही गई थी. हम 2022 में हैं. उस वादे का क्या हुआ? महंगाई चरम पर है. प्रथमिक शिक्षा चरमरा गई है.


यह भी पढ़ें: इमरान खान ने समाप्त किया ‘विरोध मार्च’ : शहबाज शरीफ सरकार को दिया 6 दिन का वक्त, कहा- फिर आऊंगा…

 

अखिलेश यादव ने कहा कि, इस सरकार ने पिछले पांच साल में जो घोषणा पत्र जारी किया था उसमें कहा गया था कि, 2022 में किसानों की आय दोगुनी जाएगी. आज हम 2022 में हैं. क्या सरकार बताएगी कि हमारे किसानों का, उनकी फसल का, जो कहा था कि आय दोगुनी हो जाएगी. उसका जवाब क्या है सरकार के पास.

लगातार महंगाई बढ़ी है. जो कीमत दालों की है, तेल की है, पेट्रोल-डीजल, सीमेंट और स्टील की है. लगातार महंगाई बढ़ी है. इनके बजट से गांव में उदासी है. हमारा नौजवान जो उम्मीद लगाकर बैठा था कि नौकरी और रोजगार मिलेगा.

आंकड़ों में तो दिखता है कि, नौकरी और रोजगार है, लेकिन जमीन पर नौजवान बेरोजगार है. जो गरीब है, जिनसे वादा किया था गेहूं, चावल, चना और तेल मिलेगा. अगर आंकड़े देखें तो सरकार करोड़ों लोगों को अनाज देने की बात कर रही है. क्या सरकार इस योजना को आगे भी चलाएगी या नहीं.

6 लाख 15 हजार 518 करोड़ 97 लाख रुपए का बजट पेश

उत्तर प्रदेश की सीएम योगी आदित्यनाथ 2.0 सरकार का पहला बजट विधानसभा में पेश किया गया है. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने अपनी सरकार का बजट पेश किया. योगी सरकार ने इस बार 6 लाख 15 हजार 518 करोड़ 97 लाख रुपये का बजट पेश किया है. बजट में योगी सरकार की तमाम योजनाओं को ध्यान में रखा गया है. इसके साथ ही बजट में 39 हजार 181 करोड़ 10 लाख रुपये की नई योजनाएं सम्मिलित है.

बजट की बड़ी बातें

▪️ 3 जून को इंवेस्टर्स समिट में 75 हजार करोड़ से ज्यादा का निवेश होगा.
▪️ लखनऊ और वाराणसी में वर्तमान अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों के साथ कुशीनगर में नवीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा विकसित हुआ है.
▪️ जेवर में नोएडा ग्रीन फील्ड अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा और अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के साथ यूपी 5 अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला प्रदेश बन जायेगा.
▪️ यूपी में विशेष सुरक्षा बल का गठन किया जाएगा. इसके अलावा कोविड में अनाथ बच्चों को 4 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी.
▪️ राज्य में दो करोड़ स्मार्टफोन और टैबलेट बांटने का लक्ष्य रखा गया है. इसके अलावा हर जिले में अभ्युदय योजना का विस्तार होगा.
▪️ लखनऊ और गौतम बुद्ध नगर में सेफ सिटी योजना लागू होगी. 10,300 महिला बीट में महिला सिपाही तैनात की जाएंगी.
▪️ धार्मिक स्थलों की सुरक्षा और संरक्षण पर जोर दिया जाएगा.
▪️ प्रदेश में 34,307 राजकीय नलकूपों तथा 252 लघु डाल नहरों द्वारा कृषकों को मुफ्त सिंचाई सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है. मुख्यमंत्री लघु सिंचाई योजना हेतु 1000 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है.
▪️ वाराणसी में क्रिकेट स्टेडियम बनाया जाएगा. इसके लिए 95 करोड़ रूपए दिए जाएंगे.
▪️ राज्य के 75 जिलों में खेलो इंडिया सेंटर स्थापित करने का लक्ष्य रखा गया है.
▪️ 18 मंडलों में अटल आवासीय स्कूल के लिए 300 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे.
▪️ धार्मिक स्थलों के सुरक्षा और संरक्षण पर जोर दिया जाएगा. इसके अलावा पीएसी की तीन महिला बटालियन का गठन किया जाएगा.
▪️ लखनऊ और गौतमबुद्ध नगर में सेफ सिटी योजना लागू होगी. इसके अलावा 10,300 महिला बीट में महिला सिपाही तैनात की जाएंगी.
▪️ किसानों को 6 हजार रूपए की आर्थिक सहायता दी.
▪️ यूपी में विशेष सुरक्षा बल का गठन किया जाएगा. इसके अलावा कोविड में अनाथ बच्चों को 4 हजार रूपए की आर्थीक सहायता दी जाएगी.


यह भी पढ़ें:  Chardham Yatra: देवभूमि में श्रद्धालुओं ने तोड़ा रिकॉर्ड, अब तक 10 लाख से ज्यादा तीर्थयात्रियों ने पूरी की चारधाम यात्रा