ट्विटर ने कहा-पत्रकार, मीडिया संस्थान, एक्टिविस्ट और राजनेताओं के टि्वटर पर कोई एक्शन नहीं

0
306
Twitter Journalists Media Activists Politicians

द लीडर : सोशल मीडिया कंपनी टि्वटर ने कहा है कि, ‘भारत में किसी पत्रकार, मीडिया संस्थान, सामाजिक कार्यकर्ता या राजनेता के टि्वटर एकाउंट पर कार्रवाई नहीं की है. उन पर कार्रवाई करना, भारतीय कानून के तहत प्राप्‍त  अभिव्यक्ति के उनके मौलिक अधिकार का उल्लंघन होगा. केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रसारण मंत्रालय से ब्लॉक किए जाने के लिए चिन्हित अकाउंट्स को हमने भारत में अपने Country withheld content policy के तहत हटा दिया है. लेकिन ये सभी अकाउंट दूसरे देशों में चलते रहेंगे.’ टि्वटर ने फ्री स्पीच और ओपन इंटरनेट की तरफदारी की है. (Twitter Journalists Media Activists Politicians)

26 जनवरी को दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने ट्वीटर को 1100 से अधिक अकाउंट्स हटाने को कहा था. इसी को लेकर ट्वीटर ने कुछ पत्रकारों, कार्यकर्ताओं और किसान आंदोलन से जुड़े नेताओं के ट्वीटर अकाउंट बंद कर दिए थे.


यूपी : दो पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर पीटा-सिपाही की मौत, घटना में शामिल एक आरोपी का पुलिस ने किया एनकाउंटर


 

हालांकि बाद में उन्हें चालू कर दिया गया था. चूंकि सरकार ने जिन हैंडल्स को चिन्हित किया. उन पर पाकिस्तान, खालिस्तान समर्थित होने का आरोप है. और विदेशों से संचालित हो रहे हैं.

सरकार ने टि्वटर को ऐसे अकाउंट्स बंद करने का आदेश दिया था. इसी को लेकर टि्वटर ने बुधवार को एक ब्लॉग लिखकर अपनी सफाई पेश की है. इसमें कहा कि, ‘हमें नहीं लगता कि एक्शन लेने के लिए हमें जो निर्देश मिले हैं. वो भारतीय कानूनों के मुताबिक हैं. फ्री स्पीच और फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेसशन की सुरक्षा देने की अपनी प्रतिबद्धता का हम पालन करते हैं.’

‘केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रसारण मंत्रालय की धारा 69-ए, के तहत हमें कई ब्लॉकिंग ऑर्डर मिले थे. इनमें दो इमरजेंसी आदेश थे. इसका पालन करे हुए इन्हें बंद कर दिया गया. हालांकि भारतीय कानूनों को ध्यान में रखते हुए दोनों अकाउंट्स को दोबारा चालू कर दिया गया है. इसकी जानकारी सूचना मंत्रालय को दी तो हमें नॉन कंप्लायंस नोटिस भेज दी गई ‘


सिर्फ 36 फीसद भारतीय अमेरिकियों की नजर में ‘भारत सही रास्ते पर’: सर्वे


भड़काऊ-फेक न्यूज को लेकर घिरी सोशल साइट्स

फेसबुक, टि्वटर, वाट्सएप जैसी प्रमुख सोशल साइट्स इन दिनों आलोचना का सबब बनी हैं. इस बात को लेकर कि इनके माध्यम से फेक न्यूज, भड़काऊ बयानबाजी, फोटो सामग्री साझा की हो रही है.

ट्रंप का बंद कर दिया था अकाउंट्स

पिछले दिनों अमेरिका के कैपिटल हिल्स पर हिंसा के बाद टि्वटर ने अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट बंद कर दिया था. फेसबुक ने भी उनके विरुद्ध यही कार्रवाई की थी.

फेसबुक और टि्वटर इंडिया हेड दे चुके इस्तीफा

बीते साभ भर के अंदर भारत में फेसबुक और टि्वटर इंडिया के दो प्रमुख अधिकारी इस्तीफा दे चुके हैं. पिछले साल फेसबुक इंडिया की पॉलिसी प्रमुख अंखी दास ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. जबकि तीन दिन पहले ही टि्वटर इंडिया की प्रमुख महिमा कौल ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इन दोनों इस्‍तीफों को फेकन्‍यूज, दुष्‍प्रचार और भारत में कंपनी की पॉल‍िसी से जोड़कर देखा जा रहा है, ये अलग बात है क‍ि कंपनी इन दोनों इस्‍तीफों को न‍िजी कारण बताकर पल्‍ला झाड़ रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here