बिहार, केरल और महाराष्ट्र में खुले कक्षा 9 से 12वीं तक के स्कूल

0
362
Schools Open Bihar Maharashtra

द लीडर : कोरोना महामारी ने पिछले नौ महीनों से देश के शिक्षण संस्थानों की रंगत ही छीन रखी है. ठीक नौ महीने के बाद सोमवार को कुछ राज्यों में स्कूल-कॉलेज खुले हैं. इसमें महाराष्ट्र, केरल और बिहार शामिल हैं. यहां कक्षा नौ से लेकर इंटरमीडिएट तक के विद्यालयों को सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराते हुए शुरू किया गया है.

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की ओर से बताए गए एक आंकड़े के मुताबिक देश में करीब 33 करोड़ विद्यार्थी हैं. ये संख्या प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत छात्रों की है. वहीं, करीब 1.15 करोड़ शिक्षक हैं. गत वर्ष मार्च में लॉकडाउन लागू होने के बाद से देश भर के स्कूल-कॉलेज बंदद हो गए. और शिक्षक-छात्रों की ये विशाल आबादी विद्यालयों से दूर हो गई. हालांकि इस अंतराल में ऑनलाइन पढ़ाई जरूर जारी रही.

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक बांकीपुपर के राजकीय बालिका हायर सेकेंडरी स्कूल में कक्षा नौ से 12वीं तक की छात्राएं सोमवार को विद्याललय पहुंचीं. प्रधानाचार्य ने कहा कि महामारी के सभी प्रोटोकॉल का पालन कराते हुए कक्षाएं संचालित की गई हैं.

वहीं, महाराष्ट्र के नागपुर और केरल के कोच्चि में भी विद्यालय खुले हैं. कोच्चि के सेंट टेरेसा कॉलेज की प्राचार्य डा. लिज्जी मैथ्यू ने एएनआइ से बातचीत में कहा कि, कॉलेज में हैंडवॉश की व्यवस्था की गई है. छात्रों से मास्क और सेनेटाइजर साथ लाने को कहा है. अधिकतम 20 छात्रों को कक्षा में बैठाने की योजना बनी है. जिसका अनुपालन कराया जाएगा.

बिहार के बांकीपुर बालिका इंटर कॉलेज में पहुंची छात्राएं. फोटो, साभार-एएनआइ

24 मई से सीबीएसई की परीक्षा

केंदीय माध्यमिक शिक्षा परिषद आगामी 4 मई से हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा आयोजन की स्कीम घोषित कर चुका है. शिक्षकों का मानना है कि विद्यालय खुलने को लेकर ये भी एक बड़ी वजह है. क्योंकि ऑनलाइन पढ़ाई में छात्रों को वो लाभ नहीं मिल पा रहा है, जो ऑफलाइान में मिलता है. बहरहाल, केंद्र सरकार कोरोना टीकाकरण अभियान की तैयारी में जुटी है. उम्मीद जताई जा रही है कि ये अभियान प्रारंभ होने के बाद विद्यालयों में पठन-पाठन पूरी तरह से पटरी पर आ जाएगा.


4 मई से होंगी सीबीएसई हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here