संयुक्त किसान मोर्चा ने समर्थन के लिए दुनिया भर के सेलेब्रिटीज का आभार जताया

0
474
Sanyukt Kisan Morcha
फोटो, साभार ट्वीटर

दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन के 71वें दिन कल 3 फरवरी को संयुक्त मोर्चा ने एक प्रेस नोट जारी कर आंदोलन का समर्थन कर रही अंतर्राष्ट्रीय हस्तियों को स्वीकार करते हुए इसे गर्व की बात बताया. संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि किसान आंदोलन के हम अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्वों के समर्थन को स्वीकार करते हैं. एक तरफ यह गर्व की बात है कि दुनिया की प्रख्यात हस्तियां किसानों के प्रति संवेदनशीलता प्रकट कर रही है, वहीं दूसरी ओर, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत सरकार किसानों के दर्द को समझ नहीं रही ही है और कुछ लोग शांतिपूर्ण किसानों को आतंकवादी भी कह रहे हैं. (Sanyukt Kisan Morcha)

गौरतलब है कि किसान आंदोलन को लेकर अंतर्राष्ट्रीय पॉप स्टार रिहाना के ट्विट के बाद दुनिया भर के सेलेब्रेटीज ने किसान आंदोलन के लिए अपने सरोकारों को जाहिर करने वाले ट्विट किये हैं. इन विदेशी हस्तियों ने ख़ास तौर से बिजली, पानी, इंटरनेट काटकर किसान आंदोलनकारियों के मानवाधिकारों के हनन के खिलाफ आवाज बुलंद की है. कमला हैरिस भांजी मीना हैरिस ने इसे अमेरिका में हुई हिंसा से जोड़ते हुए यहां तक कह दिया कि ‘अभी एक माह पूर्व दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र पर हमला हुआ और जब हम बात कर रहे हैं उस वक्त दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र पर हमला हो रहा है.’

Sanyukt Kisan Morcha

विदेशी हस्तियों के इस मामले में बयान देने के बाद भारत के खिलाड़ियों और बॉलीवुड से भी इन बयानों की मुखालफत होनी शुरू हो गयी है. कंगना रनौत, सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, अजय देवगन, करण जौहर, सुनील शेट्टी विराट कोहली आदि ने प्रतिक्रिया देते हुए इसे विदेशी प्रचार बताया है और सरकार से अपनी एकजुटता प्रदर्शित की है. स्वरा भास्कर और दिलजीत दोसांझ जैसे फ़िल्मी सितारे पूर्व में दिल्ली बॉर्डर पहुंचकर आंदोलन को अपना खुला समर्थन दे चुके हैं.

इसे भी पढ़ें : जस्टिस काटजू ने खारिज किया पॉप सिंगर रिहाना पर सरकार का तर्क, बोले-ऐसे तो जर्मनी में यहूदियों के उत्पीड़न की भी चर्चा नहीं होनी चाहिए थी

संयुक्त किसान मोर्चा ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में धर्नास्थलों को कवर कर रहे पत्रकारों पर पुलिसिया कार्रवाई की भी निंदा की है. मोर्चा ने कहा पत्रकारों की कार्रवाई इसलिए है कि आंदोलन की वास्तविकता देश भर में आम लोगों तक न पहुंच सके. (Sanyukt Kisan Morcha)

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here