चाय वाले की चुस्की के लिए प्रियंका गांधी ने असम के बागान में तोड़ी चाय की पत्तियां

0
139
PRIYANKA GANDHI

कोलकाता। पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है। इन पांचों राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत चुनाव प्रचार प्रसार में लगा दी है। इसके साथ ही एक दूसरे पर राजनीतिक हमलों का दौर भी तेज हो गया है। सभी दल जनता को अपने पक्ष में करने की जी तोड़ कोशिश कर रहे हैं। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बंगाल के मालदा में रैली करेंगे। यहां विधानसभा की 12 सीटों पर मतदान होने हैं। बंगाल में करीब 50 फीसद मतदाता मुस्लिम है। वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं के चाय बागान में चाय की पत्तियों को तोड़ा।

PRIYANKA GANDHI

प्रियंका गांधी ने चाय की पत्तियां तोड़ी

असम में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अन्य कार्यकर्ताओं के साथ बिश्वनाथ में सद्गुरू के चाय बागान में चाय की पत्तियों तोड़ी।

गुजरात तहसील-पंचायत चुनाव: 10 सीट पर भाजपा आगे तो जामनगर में आप को मिली सफलता

भाजपा ने मंत्रियों पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगायाभाजपा ने भारत निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर पश्चिम बंगाल के दो मंत्रियों पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगाया और चुनाव आयोग से उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगाने का अनुरोध किया है। पत्र में कहा गया है कि राज्य में 27 फरवरी को आचार संहिता लागू होने के बाद अलग अलग मौकों पर इन मंत्रियों ने मतदाताओं से लुभावने वादे किए। हालांकि तृणमूल कांग्रेस ने इस बात से इनकार किया है कि उसके नेताओं ने चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया और भाजपा पर ईसीआई को प्रभावित करने की कोशिश का आरोप लगाया।

कांग्रेस और आईएसएफ के साथ मतभेद दूर करने का प्रयास जारी

वाम मोर्चा ने कहा कि वह पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर, कांग्रेस तथा अब्बास सिद्दीकी की पार्टी आईएसएफ के साथ सीटों के बंटवारे को लेकर मतभेद दूर करने का प्रयास कर रहा है। वाम मोर्चा अध्यक्ष बिमान बोस ने कहा कि मुद्दों को सुलझाने के लिए तीनों पक्षों के बीच बातचीत होगी।

हाथरस : जमानत पर चल रहे यौन शोषण के आरोपी ने लड़की के पिता को गोली मारी, मौत

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया जिसमें उन्होंने कहा कि पार्टी और वाम मोर्चा के बीच सीटों के बंटवारे की बात की साथ ही आईएसएफ के आने के बाद से समीकरण बदल गए हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here