आंध्र प्रदेश में दिखी प्रतिशोध की राजनीति, एक्शन में आई चंद्रबाबू नायडू सरकार, YSRCP कार्यालय पर चला बुलडोजर

0
30

द लीडर हिंदी: आंध्र प्रदेश में सरकार बदलने के बाद सीएम एन चंद्रबाबू नायडू की सरकार एक्शन में आ गई है. जिसके चले आज आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआरसीपी का कार्यालय शनिवार सुबह विजयवाड़ा के ताड़ेपल्ली जिले में ध्वस्त कर दिया गया. इस कार्यालय के ध्वस्त होने के फौरन बाद वाईएसआरसीपी ने मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेलुगु देशम पार्टी पर “प्रतिशोध की राजनीति” का आरोप लगाया जा रहा है.

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के निर्माणाधीन केंद्रीय कार्यालय को ढहाने के बाद पार्टी प्रमुख वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की निंदा की है. इस घटना के बाद जगनमोहन रेड्डी ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप लगाते हुए उन्हें ‘तानाशाह’ बताया है.

बतादें गुंटूर ज़िले के ताडेपल्ली में बन रहे कार्यालय को कथित अवैध निर्माण बताते हुए म्युनिसिपल अथॉर्टी ने शनिवार को ढहा दिया.द कैपिटल रीज़न डिवेलपमेंट अथॉरिटी (सीआरडीए) ने कथित अवैध निर्माण को लेकर विपक्षी पार्टी को नोटिस जारी किया था. इसके बाद वाईएसआर कांग्रेस ने शुक्रवार को हाई कोर्ट का रुख़ किया था और सीआरडीए के नोटिस को चुनौती दी थी.इस घटना के बाद जगनमोहन रेड्डी ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप लगाते हुए उन्हें ‘तानाशाह’ बताया है.जगनमोहन ने लिखा है कि इस हरकत से नायडू ने संदेश दे दिया है कि अगले पांच साल उनका कार्यकाल कैसे चलने वाला है.https://theleaderhindi.com/bangladesh-prime-minister-sheikh-hasina-on-india-tour-met-pm-modi-at-hyderabad-house/