बरेली में फिल्मी स्टाइल में खुलेआम हाईवे पर तबाड़तोड़ फायरिंग…बुल्डोजर से तोड़फोड़…

0
47

द लीडर हिंदी: खुलेआम हाईवे पर तबाड़तोड़ फायरिंग.बुल्डोजर से तोड़फोड़, आगजनी और बवाल. यह किसी एक्शन फिल्म का सीन नहीं, बल्कि यूपी के जिला बरेली में प्लाट पर कब्जे को लेकर हुई गैंगवार का नज़ारा है. जिसका वीडियो जमकर वायरल हो रहा है.वीडियो देखकर आप खुद ही अंदाजा लगाइये कि यहां बिल्डर और भू माफिया में बरेली पुलिस का कितना खौफ रह गया है. बजरंग ढाबे के पास पीलीभीत हाईवे को दोनों ओर से कैप्चर करके बिल्डर के गुर्गे हाथों में असलहे लेकर दर्जनों राउंड फायर करते रहे. जिस प्लाट पर कब्जे को लेकर गैंगवार हुई. उस पर बनी मार्बल की दुकान को बुल्डोजर चलाकर तहस-नहस कर दिया गया.

दूसरे गैंग ने प्लाट पर खड़े दो बुल्डोजर को आग के हवाले कर दिया गया. करीब एक घंटे तक खुलेआम हाईवे पर बवाल चलता रहा और पुलिस गायब थी. गैंगवार होने के एक घंटे बाद इज्जतनगर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची और हालात पर काबू पाया. तब तक बिल्डर और उसके गुर्गे फरार हो चुके थे. फिलहाल, पुलिस ने मौके से प्लाट पर दुकान चलाने वाले शख्स और उसके बेटे को मय असलहे के हिरासत में लिया है. जबकि बिल्डर की फॉच्यूनर कार कब्जे में ली है. इज्जतनगर थाने पर हत्या के प्रयास, बलवा समेत कई धाराओं में दोनों पक्षों के 50 से 60 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

जानकारी के मुताबिक, शनिवार सुबह पीलीभीत हाईवे पर बजरंग ढाबे के पास आदित्य उपाध्याय की शंकर महादेव मार्बल्स नाम से दुकान पर बिल्डर राजीव राणा उसका बेटा और पार्टनर केपी यादव अपने 40 से 50 गुर्गों और दो बुल्डोजर लेकर कब्जा करने पहुंचा है. उन्होंने दुकान में तोड़फोड़ की. इस दौरान दोनों ओर से कई राउंड फायरिंग हुई और आदित्य पक्ष के लोगों ने बुल्डोजर को आग के हवाले कर दिया. सूचना पर पुलिस और फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंचकर हालात को काबू किया. सूचना पर पुलिस ने मौके से आदित्य उपाध्याय और उसके बेटे अविरल उपाध्याय को बंदूक के साथ हिरासत में ले लिया. जबकि राजीव राणा पक्ष के सभी हमलावर मौके से फरार हो गए. उनकी फॉर्च्यूनर को पुलिस ने कब्जे में लिया है. जानकारी हाेने पर एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान और एसपी सिटी राहुल भाटी भी मौके पर पहुंच गए.

बहरहाल, जिस तरह से सरेआम हाईवे पर गैंगवार हुई है. उसने सीधे तौर पर शहर की कानून व्यवस्था को खुली चुनौती दी है. साथ ही ये बता दिया है कि भू माफिया में पुलिस का खौफ खत्म सा हो गया है. अब पुलिस की ओर से इस पर क्या सख्त एक्शन लिया जाता है. इसका सभी को बेसब्री से इंतजार है. क्योंकि नए एडीजी बरेली जोन रमित शर्मा अपने सख्त मिजाज और कड़े तेवर के लिए जाने जाते हैं. वो पहले बरेली में आइजी भी रह चुके हैं. उनकी तैनाती के दिन ही बिल्डर की गैंगवार हो गई. माना जा रहा है कि पुलिस इस घटना को लेकर सख्त कार्रवाई करने के मूड में है.https://theleaderhindi.com/politics-of-vengeance-in-andhra-pradesh-chandrababu-naidu-government-came-into-action-bulldozer-ran-on-ysrcp-office/