असम से लेकर यूपी तक जहरीली शराब का धंधा, मध्यप्रदेश में 20 लोगों की मौत से हरकत में शिवराज सरकार

0
356
Poisonous Liquor Madhya Pradesh 20 deaths
फोटो, एएनआइ

द लीडर : अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद ड्रग्स को लेकर जिस तरह का शोर मचा था. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB)ने मुंबई में ताबड़तोड़ छापेमारी की. अभिनेत्री रिया चक्रवती (Riya Chakravarty) और उनके भाई शौविक चक्रवती को जेल जाना पड़ा. क्या, जहरीली शराब की बिक्री पर ऐसी ही किसी सक्रिय अभियान की दरकार नहीं? खासकर मध्यप्रदेश (MP) और उत्तर प्रदेश (UP) में, जहां आए दिन जहरीली शराब से मौतों का तांडव जारी है. मध्यप्रदेश में एक बार फिर इसी जहरीली शराब से 20 लोगों की मौत हो गई है.

ताजा घटनाक्रम मुरैना के छेरा मानपुर और पहवाली गांव का है. गांवों के 20 लोग जहरीली शराब पीकर मर गए हैं. घटना से लोगों में आक्रोश है. उन्होंने विरोध-प्रदर्शन भी किया है. दूसरी तरफ विपक्ष सरकार पर हमलावर है. इस सबके बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shiv Raj Singh) ने एक उच्च स्तरीय बैठक की है. उन्होंने स्पष्ट किया है कि घटना की जांच कर आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी. बहरहाल, जिलाधिकारी और एसपी ग्रामीण को उनके पद से हटा दिया गया है.


अफगानिस्तान की सरजमीन पर सेना नहीं उतरेगी: जनरल नरवणे


उज्जैन में हो चुकीं 12 मौतें

मध्यप्रदेश के ही उज्जैन में ही पिछले साल जहरीली शराब पीकर 12 लोग मर गए थे. तब पुलिस आरक्षक सुदेश खोड़े, शेख अनवर और नवाज शरीफ को बर्खास्त किया गया था. घटना से जुड़े 18 आरोपियों को जेल हुई थी.

बुलंदशहर में मारे गए 5 लोग

हाल ही में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के जीतगढ़ी गांव में जहरीली शराब 5 लोगों की जिंदगियां लील चुकी है. इसमें 19 लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गयाथा. घटना के मुख्य आरोपी कुलदीप की गिरफ्तारी हुई थी.


सुप्रीमकोर्ट ने जो कमेटी बनाई है, उसके सभी सदस्य कृषि कानूनों को सही मानते : किसान नेता


यूपी में एनएसए के तहत कार्रवाई के आदेश

राज्य में जहरीली शराब से लगातार मौत की घटनाएं सामने आने पर जब हंगामा बरपा. तब मुख्यमंत्र योगी आदित्यनाथ ने आरोपियों के विरुद्ध एनएसए के तहत कार्रवाई के निर्देश जारी किए. स्पष्ट किया कि आरोपियों की संपत्ति भी जब्त की जाएगी. इसे नीलाम कर पीड़ित परिवारों को मुआवजे के रूप में दिया जाएगा. उस समय भी लखनऊ, फिरोजाबाद, प्रयागज और मथुरा में जहरीली शराब से 6 मौतें सामने आई थीं.

असम में 120 लोगों की मौत से भी सबक नहीं

पूर्वोत्तर के राज्य, असम में साल 2019 में जहरीली शराब से एक बड़ा हादसा हुआ था. इसमें करीब 120 लोगों की मौत हो गई थी. इतनी बड़ी घटना से भी राज्य सरकारों और प्रशासन ने जहरीली शराब के खिलाफ कार्रवाई का सबक नहीं लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here