पीलीभीत : खेत में मिले दो सगी बहनों के शव, पुलिस को परिवार पर हत्या का शक-कुछ सबूत भी मिले

0
144
बीसलपुर : घटनास्थल का मुआयना करते एसपी जय प्रकाश व अन्य अधिकारी.

यूपी : उत्तर प्रदेश के रुहेलखंड रीजन में आमतौर पर अपराध की दर सामान्य है. लेकिन कुछ अरसे के अंतराल पर ऐसी आपराधिक घटनाएं सामने आ जाती हैं, जो राज्य ही नहीं, बल्कि देश में चर्चा का केंद्र बन जातीं. बदायूं के कटरा सआदतगंज में दो चचेरी बहनों की हत्या का मामला हो या फिर हाल ही में मंदिर में पूजी करने गई महिला को पुजारी द्वारा मौत के घाट उतारने का प्रकरण. (Pilibhit Police Two Sisters Honor Killing)

इसी फेहरिस्त में पीलीभीत के बीसलपुर क्षेत्र की एक घटना शामिल हो गई है. दो सगी बहनों के शव खेत में बरामद हुए हैं. एक शव पेड़ से लटका मिला. अब तक की जांच में पुलिस के हाथ जो साक्ष्य लगे हैं, उसमें परिवार की भूमिका सामने आ रही है.

बीसलपुर : घटनास्थल का मुआयना करने के बाद जांच करते पुलिस अधिकारी, आइजी राजेश पांडेय, एसपी पीलीभीत जय प्रकाश व अन्य

घटना 22 फरवरी की है. बीसलपुर के थाना बिलसंडा क्षेत्र स्थित ईंट भट्टा पर काम करने वाली दो बहनों की हत्या हो गई. पुलिस के मुताबिक 22 फरवरी की रात करीब 9 बजे 16 वर्षीय छोटी बेटी का शव खेत में मिला. जबकि अगले दिन 23 फरवरी की सुबह को दूसरी बेटी का शव पेड़ से लटका पाया गया. एसपी जय प्रकाश के मुताबिक परिवार ने तब तक पुलिस को सूचित नहीं किया, जब तक दूसरी बेटी का शव नहीं मिल गया.

घटना के बाद एसएसपी समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे. आइजी राजेश पांडेय ने भी घटनास्थल का दौरा किया. और पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई.

परिवार की शिकायत में दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप

परिवार की ओर से बीसलपुर थाना प्रभारी को संबोधित शिकायत में आरोप लगाया गया है कि भट्टा स्वामी और ठेकेदार ने उनकी 19 साल की बड़ी बेटी के साथ दुष्कर्म किया. इसे उनकी 16 साल की छोटी बेटी ने देख लिया. दोष छिपाने के लिए छोटी बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी. और हत्या का सबूत मिटाने के लिए बड़ी बेटी को मारकर लिप्टिस के पड़ से लटका दिया.

वहीं, पुलिस के मुताबिक युवतियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गले पर चोट के सिवा कोई अन्य निशान नहीं मिले हैं. दुष्कर्म की पुष्टि भी नहीं हुई. बहरहाल, पुलिस ने आस-पास के लोगों से पूछताछ के बाद कुछ सबूत जुटाए हैं.

सूत्रों के मुताबिक इन साक्ष्यों में हत्या में इस्तेमाल किए गए औजार भी बताए जा रहे हैं. जो मृतिका के संबंधियों के यहां से मिलने की बात सामने आई है. यही कारण है कि पुलिस इस हत्याकांड की जांच को परिवार पर फोकस किए है.


शाहजहांपुर : चिन्मयानंद के एसएस कॉलेज की अधजली हालत में मिली छात्रा की लखनऊ में मौत


 

एसपी जय प्रकाश ने ‘द लीडर’ से बातचीत में कहा कि दो युवतियों के हत्याकांड में परिवार की भूमिका संदिग्ध है. हमें कुछ पुख्ता सबूत मिले हैं. कुछ और तथ्य जुटाए जा रहे हैं. जांच के संबंध में हम अभी अधिक जानकारी साझा नहीं कर सकते. लेकिन जल्द ही इसका खुलासा कर विधिक कार्रवाई की जाएगी.

दरअसल भट्टा स्वामी दूसरे समुदाय से हैं, इसलिए शुरुआत में इस घटनाक्रम को दूसरे दिशा में भी मोड़ने की कोशिश हुई. जिसको लेकर राजनीतिक हलचल भी बढ़ी. लेकिन पुलिस की जांच की दिशा और एसपी के बयान के बाद इस पर काफी हद तक विराम लगा है. (Pilibhit Police Two Sisters Honor Killing)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here