मैदान से लेकर पवेलियन तक मारपीट के बाद एशिया कप के फाइनल में पहुंचा पाकिस्तान

0
97

द लीडर. इस तरह का इस क़दर रोमांच पहले शायद ही क्रिकेट के किसी मैच में देखने को मिला हो. एशिया कप टी-20 के इस मैच में मैदान के अंदर खिलाड़ी भिड़े और मैच ख़त्म होने पर पवेलियन में दर्शकों के बीच मारपीट हो गई.

भारी तनाव भरे इस मैच में आख़िरकार पाकिस्तान ने अफ़ग़ानिस्तान को एक विकेट से हराकर फाइनल में जगह पक्की कर ली. अफ़गानिस्तान के साथ ही भारत भी एशिया कप से बाहर हो गया. अब 11 सितंबर को एशिया कप का ख़िताबी मुक़ाबला दो ऐसी टीमों पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच होगा, जिनके देश आर्थिक तंगी के जूझ रहे हैं.

शारजाह क्रिकेट स्टेडियम पर लो-स्कोर मैच में हाई वोल्टेज रोमांच देखने को मिला. दोनों टीमों के साथ दर्शकों के बीच बला का तनाव था. कभी विकेट गिरने पर एक तरफ़ से शोर की आवाज़ें आने लगतीं तो चौका या छक्का लगने पर दूसरे खेमे में लोग चिल्लाने लगते. मैदान से लेकर बाहर तक तनातनी साफ़ दिख रही थी.

ऐसा प्रतीत हो रहा था, मैच नहीं जंग लड़ी जा रही है. जैसे ही मैच ख़त्म हुआ पवेलियन में गुत्थम-गुत्था भीड़ ने इस बात का अहसास भी करा दिया. बता दिया कि पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान के बीच यह मैच महज़ खेल तक सीमित नहीं था. जीत से न खिलाड़ियों की बल्कि उनके देश से मैच देखने के लिए आए दर्शकों की भी प्रतिष्ठा जुड़ी हुई थी. ख़ैर यह मैच कांटे के मुक़ाबले और खेल भावना के ख़िलाफ़ रवैये के लिए लंबे समय तक याद रखा जाएगा.

कड़वे अनुभव वाले मैच में पाकिस्तान को नया हीरो मिला है। इस नये सितारे का नाम है-नसीम शाह. पाकिस्तान के इस तेज़ गेंदबाज़ ने पहले शानदार गेंदबाज़ी की. सबसे किफ़ायती गेंदबाज़ी करते हुए चार ओवर में 19 रन खर्च करके एक विकेट हासिल किया और जब पाकिस्तान को आख़िरी ओवर में 11 रन दरकार थे और आख़िरी विकेट बचा था, शुरूआती दोनों गेंद पर दो छक्के लगाकर यादगार जीत दिला दी.

नसीम शाह ने यह कमाल तब किया, जब गेंद फ़ज़ल हक़ फ़ारुख़ी के हाथ में थी अफ़गानिस्तान का यह गेंदबाज़ अपने तीन ओवर में 19 रन देकर तीन बल्लेबाज़ों के विकेट चटका चुका था, जिनमें पाक कप्तान बाबर आज़म का विकेट भी शामिल था, जो 0 पर आउट हुए थे. आख़िरी ओवर को फेंकने से पहले तय लग रहा था कि फ़ज़ल हक़ फ़ारुख़ी अपनी टीम को जीत दिला देंगे लेकिन क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है. नसीम शाह ने मैच के आख़िरी ओवर की पहली दो गेंद पर दो छक्के लगाकर पाकिस्तान की हार को जीत में बदल दिया.

इससे पहले अफ़ग़ानिस्तान की टीम ने पहले खेलकर 20 ओवर में 129 रन बनाए. इसमें सबसे ज़्यादा इब्राहिम ज़ादरान ने 35 रन बनाए. जवाब में पाकिस्तान भी कम स्कोर वाले इस मैच में दबाव में दिखी. अफ़गानिस्तान के फज़ल हक़ फ़ारुख़ी के अलावा फ़रीद अहमद और राशिद ख़ान ने भी शानदार गेंदबाज़ी की. ऐसे में शादाब खान ने 36, इफ्तिखार अहमद ने 30 और मुहम्मद रिजवान ने 20 रन बनाकर पाकिस्तान को मैच में बनाए रखा. कप्तान बाबर आज़म समेत शेष खिलाड़ी जल्दी विकेट गवांकर चलते बने.

अब 11 सितंबर को फाइनल में पाकिस्तान का मुक़ाबला श्रीलंका से होगा. उससे पहले भारत का अफ़ग़ानिस्तान से आज होने वाला मुक़ाबला औपचारिकता भर रह गया है. हां, अगर अफ़ग़ानिस्तान की टीम पाकिस्तान को हरा देती तो भारत की फाइनल में पहुंचने की उम्मीदें ज़िंदा रहतीं.