राममंदिर के लिए चंदा नहीं, वहां जाकर दक्षिणा दूंगा: अखिलेश

0
423
Donation Ram Temple Akhilesh

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, ‘मैं चंदा नहीं दूंगा, वहां जाकर दक्षिणा दूंगा’। उत्तर प्रदेश (UP) के बरेली जिले में मंडलीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने यह बात कही।

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए जुटाए जा रहे चंदे में योगदान देने की सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा, ‘चंदा हिंदू धर्म का हिस्सा नहीं है, किसी धर्मग्रंथ में ऐसा नहीं लिखा है। हां, मैं वहां दक्षिणा देने जरूर जाऊंगा’। कब? ‘जब दक्षिणा देने का आयोजन होता है, सब जानते हैं’, अखिलेश यादव ने कहा।

भारी भरकम सुरक्षा के बीच अखिलेश यादव पत्रकारों से रूबरू हुए। पत्रकाराें के सवालों के जवाब उन्होंने खुद ही दिए, हालांकि सभी पूर्व स्थानीय विधायक से लेकर प्रमुख नेता मंच पर मौजूद थे।

हाल में सुर्खियों में रहे कोरोना वैक्सीन पर बयान ”मैं वैक्सीन नहीं लगवाऊंगा” पर कहा, ‘सरकार को बताना चाहिए वैक्सीन कैसे लगेगी, क्या वैक्सीनेशन प्रशिक्षण दिया गया है, गरीबों को फ्री वैक्सीन मिलेगी या नहीं, हम सबको कब तक वैक्सीन लग जाएगी, वैक्सीन का पर्याप्त इंतजाम किया गया है या नहीं’।

यह भी पढ़ें – सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले, नहीं लगवाऊंगा भाजपा की कोरोना वैक्सीन

(Akhilesh BJP Corona Vaccine

क्या अगला चुनाव वैक्सीन पर होगा? ‘द लीडर’ की ओर से पूछे गए सवाल का उन्होंने गोलमोल जवाब दिया। कहा, डॉक्टर या किसी शोध करने वाले एक्सपर्ट को लेकर हमारे मन में कोई शंका नहीं है। भाजपा ने मुफ्त वैक्सीन लगवाने के नाम पर बिहार में चुनाव जीत लिया।

हमारा कहना है कि वैक्सीन पर जितने भी सवाल उठ रहे हैं, वे सरकार को हल करने चाहिए, जवाब देना चाहिए। गरीबों को वैक्सीन कब तक लग जाएगी, ये सरकार को बताना चाहिए। वैक्सीन पहले गरीबाें को लगना चाहिए। हमारी सरकार आएगी तो सबको मुफ्त वैक्सीन लगवाएगी।

 

इस पर ‘द लीडर‘ की ओर से सवाल किया गया, ‘पहले गरीबों को वैक्सीन क्यों, नेताओं को क्यों नहीं लगना चाहिए? इस पर अखिलेश यादव ने जवाब नहीं दिया, इस सवाल को सरकार के ऊपर टाल दिया।

स्मार्ट मीटरों को अखिलेश यादव ने जनता से लूट कहा। उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने एक भी यूनिट बिजली बनाने की नई इकाई नहीं बनाई, बल्कि मुख्यमंत्री को तो प्रमुख इकाइयों के उत्पादन के बारे में शायद पता भी नहीं होगा। इसके बावजूद बिजली बिल लगातार बढ़ाया जा रहा है। इस तरह कारोबारी या उद्योग चलाने वाले कैसे बाजार में कंपटीशन कर सकेंगे, किसान के लिए खेती बहुत मुश्किल हो जाएगी’।

किसान आंदोलन पर कहा, ‘हमारी पार्टी किसानों के आंदोलन का अपने स्तर पर पूरा समर्थन कर रही है, लेकिन वहां राजनीतिक पार्टियों से मंच साझा नहीं करने की नीति है, इसलिए हम यथासंभव समर्थन कर रहे हैं’।

‘वास्तविक खबरें उजागर करने वाले मीडिया प्लेटफॉर्म और पत्रकारों के साथ अन्याय हो रहा है। आज दाल के नाम पर पानी या नमक की सच्चाई उजागर करने वाले जेल भेजे जा रहे हैं, इसका विरोध किया जाना चाहिए और ऐसी मीडिया से सपा को सहयोग की दरकार है’, अखिलेश ने कहा।

आखिर में उन्होंने कहा, पूरे प्रदेश की जनता उम्मीद से सपा को देख रही है। जिस तरह पिछली सरकार बनाने के लिए बरेली मंडल और प्रदेश ने सपा को वोट दिया, इस बार भी ऐसा होगा। बरेली मंडल में भाजपा को एक भी सीट नहीं मिलने वाली।

यह भी पढ़ें – अखिलेश की झलक पाने का सपाइयों के हुजूम ने तोड़ा फाइव स्टार होटल का गेट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here