कुम्भ: अव्यस्थाओं से नाराज साधुओं ने मेला अधिकारी को पीटा, गनर बेहोश

0
126

द लीडर हरिद्वार

देहरादून में मुख्यमंत्री  दिन में कुम्भ के लिए पुख्ता व्यवस्थाओं का दावा करते हुए 700 करोड़ से ज्यादा के खर्चे गिनाते हुए मोदी सरकार की जय बोल रहे थे औऱ रात को हरिद्वार  में अव्यस्थाओं और अधूरी व्यवस्थाओं से नाराज वैरागी साधु मेला अधिकारी को पीट रहे थे। हमले में अपर मेला अधिकारी को मामूली चोटें आईं हैं लेकिन उनका गनर बेहोश हो गया।

कुंभ मेले की सरकारी अधिसूचना जारी होने के पहले दिन ही व्यवस्थाओं को लेकर संतों में आक्रोश फूट गया अपर कुंभ मेला अधिकारी हरवीर को आक्रोशित संतों का कोप भाजन बनना पड़ा संतो की मारपीट से घायल हुए अपर मेला अधिकारी को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया । उनका गनर कुछ देर के लिए बेहोश हो गया था, अब ठीक बताया जा रहा है।घटना की जानकारी लगने पर मौके पर पुलिस के आला अधिकारी समेत भारी संख्या में अर्धसैनिक बल पहुंचे आक्रोशित संतो को समझा-बुझाकर स्थिति को संभालने का प्रयास किया गया मामले की जांच करने की बात कहीं जा रही है लेकिन कोई मामला दर्ज नहीं किया गया।

इस बीच अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने वैरागी अखाड़े के अलावा बाकी 12 अखाड़ों के एक एक प्रतिनिधि लेकर जांच समिति बना दी है। उन्होबे घटना की निंदा करते हुए कहा है कि जो भी दोषी होगा उसे सजा जरूर दी जाएगी।

 

अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह

कुंभ मेला में बैरागी कैंप मैं बैरागी अखाड़ों की तीनों बनियों की ओर से शुक्रवार को कुंभ की धर्म ध्वजा की स्थापना की जानी है । इसी संदर्भ में कुंभ के आला अधिकारी मौके पर जानकारी लेने के लिए पहुंचे थे । बैरागी कैंप में व्यवस्थाओं को लेकर संतों में भारी नाराजगी थी । कुंभ का पीक टाइम शुरू होने के बावजूद भी कुंभ प्रशासन की ओर से बैरागी कैंप में मूलभूत सुविधाओं का भी पूरा इंतजाम नहीं किया गया था ।
अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह बात कर रहे थे। आक्रोशित संतो ने आधे अधूरे काम पर चर्चा करते हुए आवेश में आकर उनके साथ धक्का-मुक्की व मारपीट शुरू कर दी। अपर मेला अधिकारी के गनर ने बचाने का प्रयास किया गया तो संतो ने उसे भी नहीं बख्शा । किसी तरह से वहां मौजूद अधिकारियों ने घायल अपर जिलाधिकारी को कार में बैठा कर अस्पताल भेजा।

घटना की जानकारी लगते ही पुलिस के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और बैरागी कैंप में तीनों अखाड़ों के प्रमुख संतो से मिलकर स्थिति को नियंत्रण में करने का प्रयास किया गया। कुछ ही देर में बैरागी कैंप में भारी पुलिस फोर्स ने पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया पुलिस आल अधिकारियों के साथ बैठक कर मामले की जांच करने की बात कह कर स्थिति को काबू में किया। पुलिस के आला अधिकारी अपार मेला अधिकारी को धक्का लगने से घायल होने की बात कह रहे हैं।

आज यानी एक अप्रैल से हरिद्वार महाकुंभ अधिकारिक रूप से शुरू हो गया है। कुंभ के पहले दिन बड़ी संख्या में भक्त गंगा स्नान के लिए पहुंचे।
गुरुवार को कुंभ के पहले दिन मेला अधिकारी दीपक रावत और आईजी कुंभ संजय गुंज्याल ने मां गंगा की पूजा की। इस दौरान उन्होंने कुंभ के सफल संचालन की प्रार्थना की।
कुंभ मेला सीएमओ डॉ. एसके झा ने बताया कि बॉर्डर और मेला क्षेत्र में रैंडम सैंपलिंग की जा रही है। अतिसंवेदनशील राज्यों से आने वाले परिवारों के एक-दो सदस्यों के रैंडम सैंपल लिए जाएंगे।

बॉर्डर पर पॉजिटिव आने पर सभी लोगों को लौटा दिया जाएगा। मेला क्षेत्र में पॉजिटिव मिलने वालों को कोविड केयर सेंटरों में आइसोलेट किया जाएगा। जांच के लिए 33 टीमें बनाई हैं। इनमें दस निजी और 23 सरकारी हैं। 10 हजार से अधिक एंटीजन सैंपल रोजाना लिए जाएंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here