उत्तराखंड में बन रही हैं पूर्ण लॉक डाउन की स्थितियां

0
169
Computer image of a coronavirus

द लीडर देहरादून

उत्तराखंड में सरकार की पर्देदारी के बावजूद कोरोना की जो तस्वीर सामने आ रही है उस हिसाब से यहां इसी महीने सम्पूर्ण लॉक डाउन की स्थितियां बनती दिख रही हैं। देहरादून के छः इलाके सील हो चुके हैं, मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी समेत कई वीआईपी संक्रमित हैं। हरिद्वार में भव्य कुम्भ की ऐसी जिद है कि कोर्ट के आदेश के बावजूद जांच नहीं हो रही है। पूरे प्रदेश में कल सिर्फ 19863 नमूने लिए गए जिनमें से 15752 की रिपोर्ट ही नहीं आयी। जांचे गए 4111नमूनों में से 500 पॉजिटिव हैं। यानी 8 फीसद। मौत सिर्फ दो की बताई गई है।

 


इस बीच सरकारी सूत्र भी मान रहे हैं कि अब कुछ सख्त कदम उठाने पड़ेंगे। 12 राज्यों के लोगों के लिए कोविड नेगेटिव रिपोर्ट आवश्यक कर दी गई है और लोगों ने भी अपनी बुकिंग रद्द करानी शुरू कर दी है।
सरकार के पास इतने संसाधन नहीं कि हाइकोर्ट के निर्देशों का पालन कर हरिद्वार में रोज 50 हज़ार लोगों की जांच करा सके। कोरोना का संक्रमण इसी रफ्तार से बढ़ता रहा, तो आने वाले समय में उत्तराखंड को लॉकडाउन का सामना भी करना पड़ सकता है। राज्य के चीफ सेक्रेटरी ओम प्रकाश का कहना है कि एहतियातन कोरोना संक्रमण वाले क्षेत्रों में कंटेनमेंट और माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए जा रहे हैं और यदि जरूरत पड़ी तो अधिक कोरोना संक्रमण वाले क्षेत्रों में लॉकडाउन भी लगाया जा सकता है।
स्वास्थ्य महानिदेशक तृप्ति बहुगुणा का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग इस पर नजर रखे हुए है. प्रतिदिन आने वाले कुल पॉजिटिव केसों का 5 फीसदी सैंपल जीनोम सिक्वेंस के लिए हायर सेंटर को रेफर किए जा रहे हैं। शुरुआती दौर में एक व्यक्ति में जर्मनी का स्ट्रेन पाए जाने के अलावा कोई नया केस सामने नहीं आया है।
चीफ सेक्रेटरी का कहना है कि हमारी सबसे अधिक चिंता हरिद्वार को लेकर बनी हुई है। कुंभ क्षेत्र सबसे अधिक संवेदनशील बना हुआ है।
वर्तमान में 2000 से अधिक एक्टिव केस मौजूद हैं।
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत खुद कोविड पॉजिटिव हैं और बुधवार को उनकी पत्नी रश्मि रावत की रिपोर्ट भी कोविड पॉजिटिव पाई गई है। पूर्व सीएम हरीश रावत, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी भी कोरोना पॉजिटिव हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here