Jodhpur Communal Clash: ईद पर जोधपुर के कबूतर चौक पर भिड़े दो समुदाय, दुकानों में लूटपाट, बच्ची को पीटा

0
119

द लीडर। राजस्थान के जोधपुर में ईद के मौके पर दो समुदाय के लोगों के बीच सोमवार रात से जारी तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. जालोरी गेट इलाके में दो बार हुई हिंसा के बाद अब कबूतर चौक पर भी बवाल की खबर सामने आई है.

दोनों जगहों के बीच दूरी एक किलोमीटर की है. रिपोर्ट के मुताबिक कबूतर चौक पर एक 5 साल की बच्ची के साथ मारपीट और दुकानों में लूटपाट की गई. स्थानीय लोग खौफ में नजर आए.

हिंदुस्तान का यही हाल रहा तो गृह युद्ध हो जाए

एक पीड़ित ने कहा कि कुछ लोग अपने हाथों में डंडे, लाठी, पाइप और रोड लेकर आए थे. वो लोग हल्ला मचा रहे थे. हम लोग बाहर आए तो देखे कि मेरी गाड़ी को नुकसान पहुंचा हुआ था. बच्ची को मारा है. हिंदुस्तान का यही हाल रहा तो गृह युद्ध हो जाए. एक चश्मदीद ने कहा कि पुलिस बताए कि आरोपियों के नाम क्या हैं. वो हमसे हिंसा करने वाले के नाम पूछ रही थी. कैमरा लगा हुआ, सभी आरोपियों की पहचान हो जाएगी.


यह भी पढ़ें : ईद के दिन सड़क रोककर नहीं होगा धार्मिक आयोजन, त्योहारों को लेकर व्यवस्थाएं चाक चौबंद


एक अन्य पीड़ित ने कहा कि, पुलिस आकर पूछ रही है कि किसने ये सब किया, क्या ये भी हम पुलिस को बताएंगे या उपद्रवियों से पूछेंगे कि उनका नाम क्या है. एक महिला ने बताया कि, ये कोई नए लड़के नहीं थे, 15-20 साल के  थे. ये रोज यहां सब्जी लेने, दूध लेने आते हैं.

 

जानिए क्या है पूरा मामला ?

बता दें कि, जोधपुर में सोमवार को तनाव के बाद मंगलवार सुबह ईद की नमाज के बाद फिर हिंसा भड़की थी. नमाज पढ़ने के बाद लोगों की भीड़ सोमवार की घटना वाली जालोरी गेट सर्कल पर पहुंची और पुलिस वालों पर पथराव कर दिया. पुलिस ने भीड़ को रोकने के लिए लाठीचार्ज किया.

जोधपुर में झंडा फहराने को लेकर दो पक्षों के बीच टकराव हुआ था. सड़कों पर आधी रात को पत्थरबाजी हुई, जिसमें थानेदार समेत तीन पुलिसकर्मी और 4 पत्रकार घायल हो गए. प्रशासन ने झंडा विवाद खत्म करने के लिए भगवा झंडे को हटाकर तिरंगा झंडा लगा दिया, जिससे अब विवाद खत्म हो जाए. हालांकि दूसरा समुदाय भगवा झंडा हटाकर अपना झंडा लगाने की मांग कर रहा था.

जोधपुर में बवाल के बाद भारी पुलिस बल तैनात

दरअसल, झगड़ा जालोरी गेट सर्कल पर परशुराम जयंती के मौके पर लगे भगवा झंडे को हटाकर ईद का झंडा लगाने पर हुआ. दोनों पक्ष अपने अपने झंडे लगाना चाह रहे थे. जोधपुर में बवाल के बाद भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है. साथ ही अफवाहें फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट सेवा बंद की गई है. प्रशासन ने दोनों पक्षों से शांति की अपील की है.


यह भी पढ़ें : राहुल गांधी ने कई मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा- कुशासन ने अर्थव्यवस्था को बर्बाद किया