Jan Vishwas Rally : रैली में बोले तेजस्वी, चाचा नीतीश कुमार जहां भी रहें, खुश रहें

0
37

द लीडर हिंदी : लोकसभा चुनाव के मद्देनजर देश में महा गठबंधन का महाभूचाल आ चुका है. बीजेपी सरकार को शिकस्त देने के लिये सभी विपक्षी दल एक जुट हो चुके है. जिसका अंदाजा आप जन विश्वास रैली से लगा सकते है. बता दें बिहार की राजधानी पटना में आज 3 मार्च रविवार को महागठबंधन की तरफ से जन विश्वास महारैली का आयोजन किया गया है. पटना के गांधी मैदान में महागठबंधन के कार्यकर्ताओं और समर्थकों की भीड़ उमड़ चुकी है. वही इस जन विश्वास रैली में आरजेडी, कांग्रेस, और वामदलों के कई बड़े नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए हैं. आरजेडी प्रमुख लालू यादव अरसे बाद किसी रैली में शामिल हुए हैं. उनके अलावे कांग्रेस सासंद राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव समेत वाम दल के कई नेता भी मंच पर मौजूद हैं.

रैली को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने चाचा नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा- चाचा ( नीतीश कुमार ) जहां भी रहें, खुश रहें. तेजस्वी ने कहा कि बिहार में 17 महीने में जो कुछ भी हुआ, 17 साल में भी नहीं हुआ था.इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चुनावी हुंकार भरते हुए कहा कि यह जो परिवारवाद का आरोप लगा रहे हैं, मैं उन बीजेपी वालों से कहना चाहता हूं कि वह संकल्प लें कि किसी परिवार वाले को टिकट नहीं देंगे. और, संकल्प लें किसी परिवारवालों से वोट लेने नहीं जाएंगे. गांधी मैदान में यह जो जोश दिख रहा है, यही बदलाव लाएगा. जो भाजपा को हराएगा.पीएम नरेंद्र मोदी के दो जनसभा के बाद आज विपक्ष की जन विश्वास रैली हो रही है. इसमें महागठबंधन के सभी दल राजद, कांग्रेस और वाम दल के सभी वरीय नेता शामिल हो रही है.

जानिए तेजस्वी ने रैली में क्या कहा…
जन विश्वास रैली को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि जहां तक उनकी नजर जा रही है, वहां सिर्फ लोगों की भीड़ ही दिख रही थी. तेजस्वी ने दावा किया कि 10 लाख से अधिक लोग यहां पहुंचे हैं. प्रशासन ने पूरी रात उन्हें परेशान किया था. इसके बावजूद कार्यकर्ता वहां पहुंचे थे. उन्होंने अपनी यात्रा के बारे में बताया कि उन्होंने 10 दिनों में 3500 किमी का सफर तय किया. तेजस्वी ने आगे कहा कि 17 महीने तक सरकार में रहे. लोगों को रोजगार देने का काम किया.

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार एक बार फिर पलट गए. वे कहीं भी रहें, सुखी रहें. तेजस्वी ने मंच से कहा कि हम पूछना चाहते हैं कि उन्होंने 10 लाख नौकरियों का वादा किसके कहने पर किया था? नीतीश जी हमारे चाचा तो हो सकते हैं, लेकिन वे पटना में रोजगार के झूठे पोस्टर लगवा रहे हैं. यह वही नीतीश कुमार हैं जिन्होंने 2020 में मेरे वादे पर सवाल उठाते हुए कहा था कि पैसा कहां से लाओगे? जो काम उन्होंने 17 साल में नहीं किया, उसे हमने 17 महीने में किया. 5 लाख लोगों को रोजगार देकर दिखाया। हमने गरीबों और पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण बढ़ाया है.

विश्वास रैली के मंच पर कई बड़े नेता मौजूद
बता दें आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, सांसद मनोज झा, वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी सहित महागठबंधन के विधायक और विधानपरिषद के सदस्य रैली में मौजूद हैं। वहीं CPI के महासचिव डी राजा, CPM के राष्ट्रीय महासचिव सीताराम येचुरी, CPI-ML के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य भी मौजूद हैं.

पटना पहुंचे समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि नारा तो यह होना चाहिए कि यूपी और बिहार मिलकर 80 और 40… 120 हराओ, भाजपा हटाओ…उन्होंने कहा कि किसान दुखी है, नौजवान के हाथ में नौकरी नहीं है और 10 साल के उनके (भाजपा) कार्यकाल में जनता के लिए क्या उपलब्धि है?…हमें उम्मीद है कि यूपी के साथ-साथ बिहार भी बदलाव की तरफ चलेगा.

बता दें कि इस रैली को सफल बनाने के लिए तेजस्वी यादव कई दिनों से जन विश्वास यात्रा पर थे। इस दौरान वे प्रदेश के कई जिलों का दौरा किया और लोगों से गांधी मैदान पटना आने की अपील की थी. उसी का नतीजा है कि हजारों की संख्या आरजेडी समर्थक पटना पहुंचे हैं. कार्यकर्ताओं के लिए जगह-जगह भोजन और नाश्ते का प्रबंध किया गया है. समर्थकों का भीड़ देख लालू परिवार काफी खुश नजर आया.

बता दें लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस विशाल विश्वाल रैली के जरिये गठबंधन जनता से जुड़कर 2024 की नैया पार करेगा.बिहार के ऐतिहासिक गांधी मैदान में महागठबंधन की तरफ से बड़ी रैली का आयोजन किया गया है. जन विश्वास रैली में इंडिया गठबंधन के कई सहयोगी भी शामिल हो रहे हैं. यह रैली लोकसभा चुनाव को देखते हुए अहम मानी जा रही है. आरेजडी नेताओं का दावा है कि यह रैली कई रिकॉर्ड तोड़ देगी.

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/this-bhojpuri-actor-refused-to-contest-elections-changed-his-decision-within-24-hours-after-getting-ticket-from-bjp/