सीएम खट्टर का हरियाणवी बजट

0
117

लखनऊ | हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने आज वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 1.55 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया. सरकार ने कहा कि बजट में स्वास्थ्य, कृषि और बुनियादी ढांचा क्षेत्रों पर विशेष जोर दिया गया है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य विधानसभा में अपना दूसरा बजट पेश किया. खट्टर के पास वित्त मंत्रालय का प्रभार भी है. हरियाणा सरकार ने बुढ़ापा पेंशन में बढ़ोतरी कर दी है। 50 हजार युवाओं को निजी क्षेत्र में नौकरी देने का एलान भी किया गया है। इसके अलावा नौवीं से बारहवीं तक बच्चों को शिक्षा मुफ्त कर दी गई है।

यह भी पढ़े – देखिए देश की आजादी का अमृत महोत्सव

इस दौरान उन्होंने कहा कि पिंजौर और गुरुग्राम दोनों को फिल्म सिटी की तहत विकसित किया जाएगा. मनोहर खट्टर ने बजट अनुमानों में किसी नए कर का प्रस्ताव नहीं किया है. वित्त वर्ष 2021-22 का बजट बढ़ाकर 1,55,645 करोड़ रुपये किया गया है. यह इससे पिछले वित्त वर्ष के 1,37,738 करोड़ रुपये के बजट से 13 प्रतिशत अधिक है.

बजट व्यय में 25 प्र्रतिशत या 38,718 करोड़ रुपये पूंजीगत व्यय और 75 प्रतिशत या 1,16,927 करोड़ रुपये राजस्व व्यय है. मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी ने असाधारण चुनौतियां पैदा की हैं और इसने ‘हमें कई सबक भी सिखाएं हैं’.उन्होंने कहा, ‘‘यह महत्वपूर्ण है कि विशेषरूप से इस संकट के समय बजट में उन क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाए, जो अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार के लिए जरूरी है. हमने स्वास्थ्य, कृषि और बुनियादी ढांचे को प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में रखा है.

किसानों के लिए एलान

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार हरियाणा की आर्थिक वृद्धि के लिए किसानों को समर्थन जारी रखेगी. बजट में क्षेत्र के लिए 6,110 करोड़ रुपये के व्यय का प्रस्ताव किया गया है. यह 2020-21 के 5,052 करोड़ रुपये के व्यय की तुलना में 20.9 प्रतिशत अधिक है.

यह भी पढ़े – वैक्सीन आने के बावजूद फिर पड़ी लॉकडाउन की ज़रुरत

50 हजार युवाओं को मिलेगी निजी क्षेत्र में नौकरी
2021-22 में निजी क्षेत्र में हरियाणा के युवाओं को न्यूनतम 50 हजार नौकरियां दी जाएंगी। 2021-22 में सिकरोना, फरीदाबाद, इंद्री, करनाल व जीवननगर सिरसा में 3 नए आईटीआई शुरू होंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here