Haj Yatra 2022: लंबे समय के बाद शुरू होने जा रही हज यात्रा को लेकर मुंबई में ट्रेनिंग कैंप का उद्घाटन, जानिए क्या बोले केंद्रीय मंत्री नकवी ?

0
170

द लीडर। मुंबई में हज यात्रा 2022 को लेकर ट्रेनिंग कैंप का उद्घाटन किया गया है. केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी की मौजूदगी में मुंबई में आज हज यात्रा 2022 को लेकर “खादिम उल हुज्जाज” के प्रशिक्षण कैंप का उद्घाटन किया गया है.

ट्रेनिंग कैंप उद्घाटन के मौके पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने कहा कि, लोगों की सेहत, सुरक्षा, सलामती को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए अहम सुधारों के साथ हज यात्रा 2022 हो रही है. 2 साल के लंबे समय के बाद हज यात्रा 2022 होने जा रही है. मुझे खुशी है कि इस बार हज यात्रा 100 फीसदी सब्सिडी फ्री है. इसके साथ ही इस बार ये 100 फीसदी डिजिटल भी है.

हज यात्रा को लेकर ट्रेनिंग कैंप

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने बताया कि, 80 फीसदी आवेदन पत्र डिजिटल हुए हैं. जिसमें 50 फीसदी महिलाएं और 50 फीसदी पुरूष हैं.


यह भी पढ़ें: आजम खान कांग्रेस में आइए आपका स्वागत है… सपा नेता का पोस्टर जारी कर पार्टी में शामिल होने का न्योता

उन्होंने कहा कि, हम यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं कि तीर्थयात्रियों पर कोई अतिरिक्त वित्तीय बोझ न पड़े क्योंकि वे बिना किसी सब्सिडी के हज करेंगे. सऊदी अरब में किफायती दामों पर आवास, परिवहन और अन्य जरुरी सुविधाएं लेने की प्रक्रिया चल रही है.

लाउडस्पीकर विवाद पर क्या बोले नकवी?

लाउडस्पीकर को लेकर नीति बनाने के महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल के बयान पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, हिंदुस्तान तहजीब और ताकत को तार तार करने की किसी भी तालिबानी तड़प को हमें तड़ीपार करना है. सीधा संदेश है. अगर कोई इस भाईचारे की ताकत को कमजोर करना चाहता है तो हम सबको मिलकर इसे कमजोर होने से बचाना है.

अज़ान-हनुमान चालीसा को बदनाम करने की कोशिश

केंद्रीय मंत्री नकवी ने कहा कि, हिंदुस्तान विभिन्न धर्मों से बना देश है. पूरी दुनिया में हमारा देश एक ऐसा देश है जो सारे मजहब को मानते हैं. अनेकता में एकता की ताक़त है. लेकिन कुछ लोगों को यह पसंद नहीं आता है तो बीच बीच में कुछ भी बोलते रहते हैं. “Family Fight” परिवारों के बीच हुए झगड़ों में पड़ना नहीं चाहते.

परिवारों के झगड़ों में वर्चस्व को लेकर तकरार चल रही है. ध्वनि प्रदूषण पर कानून है उसका पालन सबको करना चाहिए. भोंपू की प्रतियोगिता चल रही है कि किसका लाऊडस्पीकर किससे बड़ा है. अज़ान और हनुमान चालीसा को बदनाम कर रहे हैं. ये दुर्भाग्यपूर्ण है. हमारे यहां दिवाली होती है ईद होती है और सब मिलजुल कर रहते हैं.


यह भी पढ़ें:  राम मंदिर निर्माण के लिए अपनी लाखों की संपत्ति CM योगी को सौंपेंगे मोहम्मद गजनी, अयोध्या और भगवा से प्रेम करता है मुसलमान