Gyanvapi mosque survey: ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा, कुएं में मिला शिवलिंग, 17 मई तक रिपोर्ट पेश करेगी टीम

0
129

द लीडर। वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे लगातार तीन दिन चलने के बाद सोमवार को पूरा हो गया. सोमवार को टीम ने नंदी के सामने बने कुएं का सर्वे किया. इसी बीच हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने आज तक से बातचीत में दावा किया है कि, कुएं के अंदर शिवलिंग मिला है. उसकी प्रोटेक्शन लेने के लिए वे कोर्ट जाएंगे.

वहीं इससे पहले सर्वे में शामिल होने से आर पी सिंह को रोका गया. उनपर सर्वे की बातों को बाहर बताएं जाने के आरोप लगे हैं. उधर, सर्वे के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए. 2 किलोमीटर के दायरे तक फोर्स तैनात रहा. रविवार को कहां हुआ था सर्वे? इससे पहले रविवार को पश्चिमी दीवार, नमाज स्थल, वजू स्थल, के अलावा तहखाने में भी सर्वे किया गया था.

सर्वे को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम

सर्वे को देखते हुए सोमवार को सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. गोदौलिया से मैदागिन तक सभी दुकानें बंद करा दी गई थीं. इसके अलावा पूरे 2 किलोमीटर के दायरे में फोर्स तैनात की गई. कल के मुकाबले आज फोर्स ज्यादा तैनात की गई. बाहर यूपी पुलिस और पीएसी के जवान लगाए गए थे तो परिसर क्षेत्र में सीआरपीएफ तैनात की गई.


यह भी पढ़ें: क्या ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे भारत के उपासना स्थल क़ानून का उल्लंघन है!

 

हिंदू पक्ष बोला- हमारा दावा पुख्ता हुआ

ज्ञानवापी मस्जिद के दूसरे दिन के सर्वे के बाद हिंदू पक्ष ने दावा किया था कि सर्वे में जो मिल रहा है, वो उनके पक्ष में है. हालांकि, कोर्ट की ओर से गोपनीयता को लेकर सख्त हिदायत की वजह से कोई भी पक्ष इसे लेकर सीधे कुछ बताने से बचने की कोशिश कर रहा है.

हिंदू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन ने कहा था कि, सर्वे के बाद हमारा दावा और मजबूत हुआ है. उन्होंने ये भी बताया कि सर्वे अभी पूरा खत्म नहीं हुआ है.

17 मई तक रिपोर्ट पेश करेगी टीम

वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर कोर्ट ने 12 मई को बड़ा फैसला सुनाया था. कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के लिए नियुक्त किए गए एडवोकेट कमिश्नर अजय कुमार मिश्रा को हटाए जाने से इनकार कर दिया था.

हालांकि, अदालत ने कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा के अलावा विशाल कुमार सिंह को भी कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया है. इसके अलावा अजय सिंह को असिस्टेंट कमिश्नर बनाया गया था. कोर्ट ने 17 मई तक सर्वे की कार्रवाई पूरी करके रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा था.

ज्ञानवापी सर्वे में शामिल वरिष्ठ पत्रकार डॉ. रामप्रसाद सिंह को सर्वे में शामिल होने से रोका गया. बताया जा रहा है कि सर्वे की जानकारी को बाहर बताए जाने के संदर्भ में उन्हें अंदर जाने से रोका गया है.

ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का अदालत द्वारा अनिवार्य वीडियोग्राफी सर्वेक्षण सोमवार को लगातार तीसरे दिन कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू हुआ. मस्जिद कमेटी की आपत्तियों के बीच पिछले हफ्ते सर्वेक्षण को रोक दिया गया था.

ज्ञानवापी सर्वे टीम से एक सदस्य को हटाया गया

सूत्रों के मुताबिक, आज सर्वे टीम नंदी के सामने बने कुएं की तरफ जाएगी. इससे पहले रविवार को हुए सर्वे में पक्षमी दीवार, वजू स्थल, नमाज स्थल, के अलावा तहखाने में भी सर्वे का काम किया गया था.

वहीं, सर्वे को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था सख्त की गई है. गोदौलिया से मैदागिन तक सभी दुकानें फिलहाल बंद करा दी गई हैं. इसके अलावा पूरे 2 किलोमीटर के दायरे में जवानों को तैनात किया गया है. परिसर क्षेत्र के आसपास सीआरपीएफ की टीमें भी तैनात हैं.


यह भी पढ़ें:  ‘ज्ञानवापी थी, है और रहेगी, इस बार नहीं छीन पाओगे’ – ओवैसी के तीखे बोल