दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड की तैयारी पूरी, ओडिशा का जत्था गाजीपुर बॉर्डर पहुंचा, देशभर में उत्साह का माहौल

0
352

दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन के 60वें दिन 23 जनवरी को दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पुलिस अधिकारियों के साथ बातचीत में संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने किसान गणतंत्र दिवस परेड के लिए संयुक्त रूप से परेड के मार्ग को अंतिम रूप दिया। परेड के अनुशासित आचरण के लिए तैयारियां जोरों पर हैं।

किसान मोर्चा के कोऑर्डिनेटर डॉ. दर्शनपाल ने कहा, देशभर से किसानों और नागरिकों के जबरदस्त उत्साह और प्रतिक्रिया मिल रही है। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को “आज़ाद हिंद किसान दिवस” मनाने की कॉल को देशभर के किसानों ने समर्थन दिया। आज अलग-अलग जगहों पर विरोध प्रदर्शन और धरने लगे।

यह भी पढ़ें – जब देश की संसद में चर्चा न हो तो जनता को बुलानी चाहिए अपनी संसद : प्रशांत भूषण

देशभर से किसानों मजदूरों का दिल्ली आना जारी है। मोर्चे द्वारा घोषित किसान गणतंत्र परेड हेतु अलग अलग जगहों पर तैयारियां चल रही हैं। उन्होंने जोड़ा।

मोर्चा की ओर से जारी प्रेसनोट में बताया गया कि ओडिशा से चली ‘किसान दिल्ली चलो यात्रा’ आज गाजीपुर बॉर्डर पहुंची। ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ व उत्तरप्रदेश के करीब 1000 किसान गाजीपुर मोर्चे पर पहुंचे।

भुवनेश्वर में AIARLA के कार्यकताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। ओडिशा के गंजम और बलांगीर समेत कई जगहों पर किसानों ने विरोध प्रदर्शन किए। मलिया महिला शक्ति संगठन द्वारा गुजरात में हड़ताल की गई।

झारखंड के गढ़वा में किसानों मजदूरों ने पैदल मार्च किया। रांची में स्थानीय लोगों और किसानों ने राजभवन तक मार्च निकाला। भोपाल, भिंड, रीवा, ग्वालियर समेत मध्यप्रदेश में किसान लगातार पक्के मोर्चे लगाकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें – किसानों ने सरकार के दो साल तक कानूनों का अमल टालने का प्रस्ताव ठुकराया

 

दरभंगा, भोजपुर समेत बिहार में कई जगह धरने प्रदर्शन जारी हैं। पटना के गांधी मैदान में नेताजी सुभाष चंद्र बोस को याद करते हुए किसानों ने किसान आंदोलन सफल बनाने का संकल्प लिया।

तमिलनाडु में हज़ारों किसानों ने राजभवन तक मार्च किया और गिरफ्तारियां दीं। शेतकारी संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में 23 जनवरी को आज़ाद हिंद किसान दिवस मनाते हुए 20,000 वाहनों का मार्च नासिक से मुंबई तक निकाला की सूचना आई।

कोटा संभाग से किसानों का एक जत्था शाहजहांपुर बॉर्डर के लिए रवाना हुआ।

राष्ट्रीय किसान महासंघ द्वारा ‘शहीद सम्मान यात्रा’ सोनीपत में आयोजित की गई जिसमें 26 जनवरी की किसान गणतंत्र परेड में शामिल होने का आह्वान किया गया। छत्तीसगढ़ के सैकड़ों किसान राज्यपाल को ज्ञापन देने के बाद दिल्ली मोर्चे के लिए रवाना होंगे।

यह भी पढ़ें – पुलिस से बनी सहमति, दिल्ली में होगी 25 राज्यों के एक लाख ट्रैक्टरों की परेड

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here