किसान आंदोलन : प्रियंका का सवाल-प्रधानमंत्री जी, अपने किसानों से ही युद्ध? राहुल गांधी बोले, पुल बनवाइए, दीवारें नहीं!

0
458
दिल्ली बॉर्डर पर सरकार द्वारा की गई तैयारी. फोटो, साभार-राहुल गांधी ट्वीटर

नई दिल्ली : किसान आंदोलन को लेकर सरकार दिल्ली सीमाओं की जबरदस्त नाकेबंदी में जुटी है. बॉर्डर पर कीले गाड़कर भारी बैरिकेड लगाया गया है. और पुलिस बल के साथ सशस्त्र बल तैनात किया है. इंटरनेट सेवाएं पहले ही बंद की जा चुकी हैं. किसानों से निपटने की इस सरकारी कसरत पर विपक्ष, कानूनविद, एक्टिविस्ट ने सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर कहा है कि, पुल बनवाइए, दीवारे नहीं.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बॉर्डर की एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्रधानमंत्री जी, अपने किसानों से ही युद्ध?’

अखिलेश यादव का शायराना तंज

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शायराना अंदाज में सरकार पर वार किया है, ‘सियासत तू कमाल है, उठाके रास्ते में दीवार-बिछाकर कंटीली तार, कहती है आ करें बात.’

प्रशांत भूषण बोले-सैन्य घेराबंदी जैसा आलम
वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने कहा कि कल रात किसानों के विरोध स्थल पर बिजली बंद कर दी गई. इंटरनेट बंद है. ये सब एक सैन्य घेराबंदी जैसा है. किसानों के आंदोलन स्थल तक पहुंचने के रास्ते बंद कर दिए गए हैं. उन्हें हटाने के लिए सशस्त्र पुलिसकर्मी, पैरामिलिट्री फोर्स तैनात है. किसानों को हटाने के लिए पत्थरवाज गुंडे भेजे गए.

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले दो महीने से अधिक समय से किसान दिल्ली की सीमाओं पर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. संयुक्त किसान मोर्चा ने आगामी 6 फरवरी को तीन घंटे के चक्काजाम का आह्वान किया है.


संसद में किसानों के मुद्​दे नहीं उठा सकते तो सदन चलाने का क्या मतलब : संजय सिंह


 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों मन की बात में कहा था कि, किसानों से एक फोन की दूरी पर हैं. हालांकि बॉर्डर पर किसानों से निपटने के लिए अब जो तैयारियां चल रही हैं, उससे सरकार की आलोचना हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here