चुनाव आयोग : बंगाल समेत पांच राज्यों में 27 मार्च से डाले जाएंगे वोट और 2 मई को जारी होंगे नतीजे

0
187
Election Commission Five States Bengal

द लीडर : चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान की तारीखों का ऐलान कर दिया है. पांचों राज्यों में विधानसभा की 824 सीटें हैं. इन पर कुल आठ चरणों में वोट डाले जाएंगे. पहले चरण के लिए 27 मार्च को मतदान होगा. और आखिरी चरण की वोटिंग 29 अप्रैल को होगी. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने चुनावों की घोषणा करते हुए कहा कि चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण कराया जाएगा.

जिन पांच राज्यों में चुनाव होना है, उनमें बंगाल के अलावा तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी शामिल हैं. चुनाव के लिए लिहाज सबसे बड़ा राज्य बंगाल है, जहां विधानसभा की 294 सीटे हैं. और तमिलनाडु में 234, केरल में 140 सीटें हैं.

बंगाल में दूसरे चरण के लिए एक अप्रैल, तीसरा चरण-6 अप्रैल, चौथा-10 अप्रैल, पांचवां चरण-17 अप्रैल, छठा चरण 22 अप्रैल, सातवां चरण 26-अप्रैल और आठवें चरण के लिए 29 अप्रैल को ममदान होगा.


#AMU : लापता छात्र अशरफ का चौथे दिन भी नहीं लगा कोई सुराग, एक बार दिल्ली में मिली लोकेशन और फिर रहस्य


 

पुडुचेरी और तमिलनाडु, केरल में छह अप्रैल को चुनाव होंगे और दो मई को मतगणना होगी. जबकि असम में तीन चरणों में चुनाव होंगे. ये तारीखें हैं- 27 मार्च, एक और 6 अप्रैल. असम में चुनाव केंद्रों की संख्या 88,936 है.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि मतदान का समय एक घंटा बढ़ाया गया है. वहीं डोर-टू-डोर अभियान में पांच से ज्यादा लोग शामिल नहीं होंगे.

दक्षिण के तीन राज्यों में एक ही दिन चुनाव

दक्षिण भारत के तीन राज्य, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में एक ही दिन यानी 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. खास बात ये है कि तमिलनाडु में 234 सीटें हैं और यहां एक दिन ही चुनाव कराने का फैसला किया गया है. ये पहला मौका है जब तमिलनाुड के दिग्गज नेता एम करुणानिधि और जयललिता के बिना चुनावी मैदान सजा होगा.

बंगाल में पूरी दमखम से डटी भाजपा

पांच राज्यों में सबसे दिलचस्प चुनाव बंगाल का है. केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा, बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ पूरे दमखम से मैदान में उतरी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह से लेकर अन्य प्रमुख नेता लगातार बंगाल की जनता से मुखातिब हो रहे हैं. भाजपा में दूसरी लेयर के नेता भी बंगाल की जनसभाओं को संबोधित करने पहुंच रहे हैं.


मजदूरों के लिए लड़ने वाली 23 साल की नोदीप कौर को डेढ़ महीने बाद मिली जमानत, किन संगीन धाराओं में बंद थीं, जानते हैं


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here