#AssamElection: बीजेपी नेता हेमंत बिस्व सरमा को चुनाव आयोग से राहत

0
165

नई दिल्ली। असम के मंत्री और बीजेपी नेता हेमंत बिस्व सरमा को निर्वाचन आयोग से राहत मिली है. चुनाव आयोग ने बीजेपी नेता हेमंत बिस्व सरमा के चुनाव प्रचार पर रोक की अवधि को 48 घंटे से घटाकर 24 घंटे कर दिया है. बता दें, चुनाव आयोग ने बीजेपी नेता पर कार्रवाई करते हुए 48 घंटे का रोक लगा दिया था.

दरअसल, हेमंत बिस्व सरमा के खिलाफ कांग्रेस ने शिकायत दी थी कि, उन्होंने कांग्रेस और बीपीएफ के उम्मीदवार मोहिलरी को धमकी देते हुए कहा था की एनआईए का इस्तेमाल कर जेल भिजवा देंगे.

यह भी पढ़े: #AssamElection:आखिरी चरण में गरजे मोदी, कहा- सेक्यूलरिज्म से देश को नुकसान 

चुनाव आयोग ने हेमंत बिस्व सरमा पर सार्वजनिक सभा करने, सार्वजनिक जुलूस निकालने, रैलियां करने, रोडशो, इंटरव्यू देने और मीडिया में सार्वजनिक बयान देने पर भी रोक लगा दिया था.

हेमंत बिस्व सरमा ने कहा था कि, अगर मोहिलारी विद्रोही नेता एम बाथा के साथ उग्रवाद को बढ़ावा देते हैं तो केंद्रीय जांच एजेंसी एनआईए के माध्यम से उन्हें जेल भेजा जाएगा. बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट असम में कांग्रेस का सहयोगी दल है. पहले यह दल बीजेपी के साथ था.

यह भी पढ़े: चुनाव जीतने के लिए सांप्रदायिक संघर्ष बढ़ा रही भगवा पार्टी 

असम में दो चरण की हो चुकी है वोटिंग

असम की कुल 126 सीटों पर तीन चरणों में वोटिंग की घोषणा हुई थी. इसमें से दो चरणों की वोटिंग हो चुकी है. पहले चरण के चुनाव में 27 मार्च को 47 सीटों पर करीब 79.97 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. जबकि दूसरे चरण में 39 सीटों पर मतदान हुआ. इस चरण में 80.83 फीसदी लोगों ने मताधिकार का इस्तेमाल किया. बाकी 40 सीटों पर तीसरे और आखिरी चरण में 6 अप्रैल को चुनाव होंगे.

यह भी पढ़े: #आबारखाबो: अगर आप खाएंगे तो एक और खाएंगे 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here