DU Professior Gets Bail: ज्ञानवापी ‘शिवलिंग’ मामले में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल को मिली जमानत

0
134

द लीडर। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में कथिततौर पर शिवलिंग जैसी संरचना मिलने पर दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने 50 हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दी है.

हालांकि दिल्ली पुलिस ने प्रोफेसर की जमानत का विरोध किया था. दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल के खिलाफ नार्थ डिस्ट्रिक्ट के साइबर सेल में एफआईआर दर्ज करवाई गई थी. जिस पर आज उन्हें साइबर पुलिस ने अरेस्ट कर लिया था.

दिल्ली विश्वविद्यालय में हिन्दू कॉलेज के प्रोफेसर रतन लाल ने सोशल मीडिया पर ज्ञानवापी मस्जिद में मिले कथित शिवलिंग की तस्वीर के साथ विवादित पोस्ट करते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. जिसके बाद आज प्रो. रतन लाल को गिरफ्तार कर लिया गया था.


यह भी पढ़ें: UP Politics: सपा ने महानगर अध्यक्ष पद से हटाया तो… रुबीना खानम ने पार्टी के खिलाफ खोला मोर्चा, कही ये बात ?

 

पुलिस के मुताबिक, एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल को भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए (धर्म, जाति, जन्मस्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच वैमनस्य फैलाने) और 295ए ( धर्म का अपमान कर किसी वर्ग की धार्मिक भावना को जानबूझकर आहत करना) के तहत गिरफ्तार किया गया है. साइबर पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी की थी.

आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर हुई थी गिरफ्तारी

दरअसल, ज्ञानवापी मस्जिद परिसर से मिले शिवलिंग को लेकर दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल ने विवादित पोस्ट किया था. इसके बाद इस मामले पर काफी हंगामा हुआ था.

रतन लाल के खिलाफ बुधवार को एफआईआर दर्ज की गई थी. उनके खिलाफ गैर जमानती धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था. उनकी पोस्ट सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज की गई थी.

प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी के बाद डीयू के छात्रों ने विरोध में धरना दिया और उन्हें रिहा करने की मांग की. इसके साथ ही सोशल मीडिया में भी प्रोफेसर के समर्थन और उन्हें रिहा करने की मांग को लेकर लोगों ने पोस्ट डालीं.

प्रोफेसर पर क्या हैं आरोप?

प्रोफेसर रतन लाल पर सोशल मीडिया में शिवलिंग को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है. आरोप है कि प्रोफेसर रतन लाल ने ज्ञानवापी मस्जिद में मिले कथित शिवलिंग की फोटो के साथ विवादित पोस्ट किया था.

उसी पोस्ट पर प्रोफेसर रतन लाल के खिलाफ नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के साइबर सेल में एफआईआर दर्ज की गई थी. शुक्रवार रात उन्हें गिरफ्तार किया गया था.


यह भी पढ़ें:  लक्षद्वीप के समंदर से लाई जा रही 1526 करोड़ की 216 किलो हेरोईन DRI ने किया जब्त