दिल्ली में 63 लाख लोगों के घरों पर चलाया जाएगा बुलडोजर, ये आजाद भारत का सबसे बड़ा विध्वंस होगा : सीएम केजरीवाल

0
124

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में गैरकानूनी तरीके से घर तोड़े जा रहे है. जिसक पर बोलते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, हम अतिक्रमण के खिलाफ हैं.

सरकार चल रही बुलडोजर कार्रवाई को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. सीएम ने कहा कि, 63 लाख लोगों के घरों पर बुलडोजर चलाया जाएगा और ये आजाद भारत का सबसे बड़ा विध्वंस होगा.

चुनाव से पहले बीजेपी ने किए थे बड़े वादे

सीएम ने बीजेपी पर वार करते हुए कहा कि, चुनाव के पहले बीजेपी ने कहा था कि, कच्ची कॉलोनियों के लोगों को मालिकाना हक दिलाया जाएगा. जहां झुग्गी होगी वहीं मकान बनाए जाएंगे.


यह भी पढ़ें: मुंबई में मुस्लिम धर्मगुरु-बुद्धिजीवियों की मीटिंग, कम्युनिटी को टारगेट करने के ख़िलाफ आंदोलन का फ़ैसला

 

वहीं अब चुनाव के बाद ये सब तोड़ने के लिए आ गए. उन्होंने कहा कि, हम अतिक्रमण के खिलाफ हैं. हम नहीं चाहते कि, अतिक्रमण हो लेकिन 63 लाख लोगों के घर उजाड़ देना उनकी जिंदगी बर्बाद कर देना इसे बर्दाशत नहीं किया जाएगा.

15 साल से नगर निगम में बीजेपी का राज रहा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा, 15 साल से नगर निगम में बीजेपी का राज रहा. इस दौरान उन्होंने खुद गैरकानूनी ढंग से कई बिल्डिंग बनवाईं. अब जब 18 तारीक को इनका कार्यकाल पूरा होने जा रहा है तो क्या इनके पास नैतिक पॉवर है कि ये इतना बड़ा निर्णय लें? आप चुनाव कराइये.

चुनाव में पूरी दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी के ही हक में रहेगी. सीएम ने कहा कि हम दिल्ली के जनता को भरोसा दिलाते हैं कि हम अतिक्रमण और अवैध रूप से बनी बिल्डिंगों का हम समाधान निकालेंगे.

MCD का एक्शन, केजरीवाल ने किया विरोध

दिल्ली में अतिक्रमण के खिलाफ MCD का एक्शन जारी है, जिसका सीएम अरविंद केजरीवाल ने विरोध किया है. सीएम केजरीवाल ने दावा किया है कि, केंद्र सरकार दिल्ली में 63 लाख लोगों के मकान तोड़ने की प्लानिंग कर रही है जिसका दिल्ली सरकार विरोध करती है.

सीएम केजरीवाल ने यह भी दावा किया कि इस तरह तो 80 फीसदी दिल्ली अतिक्रमण के दायरे में आएगी. सीएम केजरीवाल ने कहा कि, 75 साल में जितनी दिल्ली बनी वह प्लानिंग से नहीं बनी. इस वजह से मौजूदा वक्त में 80 फीसदी दिल्ली अतिक्रमण के दायरे में आएगी. केजरीवाल ने सवाल किया कि, क्या 80 फीसदी दिल्ली को तोड़ा जाएगा?

केजरीवाल ने यह भी कहा कि, उन्होंने इस मसले पर अपनी पार्टी के विधायकों संग आज मीटिंग भी की है. सीएम बोले मैंने विधायकों से कहा है कि अगर अतिक्रमण की ऐसी गतिविधियों का विरोध करते हुए जेल भी जाना पड़े तो डरे नहीं.


यह भी पढ़ें:  एंबुलेंस चालकों को BJP सरकार के अहंकार और अन्याय की वजह से तकलीफें झेलनी पड़ रही है : अखिलेश यादव