एक्शन में योगी सरकार : सपा के पूर्व विधायक और उनके भाई के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में केस दर्ज, लगे ये गंभीर आरोप ?

0
81

द लीडर। दोबारा सत्ता में काबिज होने के बाद योगी आदित्यनाथ सरकार एक्शन मोड में है. योगी सरकार लगातार माफिया और अपराधियों पर शिकंजा कस रही है. वहीं एटा जिले में कोतवाली नगर में सपा नेता और अलीगंज के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और उनके छोटे भाई जुगेंद्र सिंह यादव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत FIR दर्ज की गई है.

इन दोनों भाईयों के खिलाफ संगठित गिरोह बनाकर सरकारी और प्राइवेट जमीनों पर भय दिखाकर कब्जा करके अवैध तरीके से धन अर्जित करने का आरोप हैं. एफआईआर में कहा गया है कि, जनहित और न्यायहित में इनका स्वछंद विचरण करना ठीक नहीं है.

दोनों भाइयों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में केस दर्ज

जिलाधिकारी एटा अंकित कुमार अग्रवाल के द्वारा अनुमोदित गैंग चार्ट के अनुसार, गैंग लीडर सपा नेता रामेश्वर सिंह यादव और उसके सक्रिय सदस्य उनके छोटे भाई जुगेन्द्र सिंह यादव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की गयी है.


यह भी पढ़ें: लाउडस्पीकर मामला : मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर लगे लाउडस्पीकर बंद, 600 से ज्यादा मंदिरों और 265 मस्जिदों को नोटिस जारी

 

पुलिस की जांच के बाद गैंग लीडर रामेश्वर सिंह यादव और गैंग के सक्रिय सदस्य जुगेंद्र सिंह उपरोक्त के साथ मिलकर भौतिक एवं आर्थिक लाभ प्राप्त करने लिए सरकारी और गैर सरकारी भूमि पर जनता को डरा धमका कर अवैध कब्जा करने एवं अवैध रूप से धन अर्जित करने के अपराधी पाए गए हैं. एफआईआर में कहा गया है कि, इनके कृत्यों से जनता में भय और आतंक का माहौल व्याप्त है.

इन धाराओं में दर्ज हुआ केस

दोनों भाइयों पर शिकंजा कसते हुए कई धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. दोनों के विरुद्ध मुअसं-511/21 धारा 447 भादंवि और 2/3 सार्वजनिक सम्पत्ति नुकसान निवारण अधिनियम थाना कोतवाली नगर एटा और मुअसं- 514/21 धारा 447, 120B भादंवि व 2/3 सार्वजनिक सम्पत्ति नुकसान निवारण अधिनियम थाना कोतवाली नगर एटा व मुअसं- 531/21 धारा 447, 504, 506 भादंवि थाना कोतवाली नगर एटा के अभियोग रजिस्टर्ड हैं.

एफआईआर में कहा गया है कि, गैंग लीडर रामेश्वर सिंह यादव अपने भाई जुगेंद्र सिंह यादव के साथ मिलकर भादंवि के अध्याय 17 एवं 22 में वर्णित अपराध करने के अभ्यस्त अपराधी हैं. इनका समाज में स्वच्छंद विचरण जनहित एवं न्याय हित में उचित नहीं है.

अभियुक्तगण उपरोक्त के विरुद्ध इनके कृत्यों से धारा 2/3 उत्तर प्रदेश समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 का अपराध सृजित होने पर अनुमोदित गैंग चार्ट की जांच के बाद दोनों आरोपियों रामेश्वर सिंह यादव और जुगेंद्र सिंह यादव के खिलाफ मुअसं- 235/2022 धारा 2/3 उत्तर प्रदेश समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1986 में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जा रही है.

पूर्व विधायक हैं रामेश्वर सिंह यादव

एटा के अपर पुलिस अधीक्षक धनंजय सिंह कुशवाह ने बताया कि, रामेश्वर सिंह यादव और जुगेंद सिंह यादव के खिलाफ कोतवाली नगर एटा में सरकारी जमीनों पर कब्जा करने के संबंध में गैंगस्टर एक्ट के तहत एफआईआर की गई है.

रामेश्वर सिंह यादव ने अलीगंज से और जुगेंद सिंह यादव ने एटा सदर सीट से पिछला विधानसभा चुनाव भी सपा के टिकट पर लड़ा था, परंतु दोनों चुनाव हार गए थे. रामेश्वर सिंह यादव और जुगेंद सिंह यादव सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर राम गोपाल यादव के रिश्तेदार हैं.


यह भी पढ़ें:  UP : 21 अप्रैल को आयोजित होगा ‘अप्रेन्टिसशिप मेला’ : 50 हजार युवाओं को रोजगार से जोड़ा जाएगा