अगले 48 घंटे के अंदर पश्चिमी विक्षोभ होगा सक्रिय, मार्च में पहाड़ों पर बारिश के साथ बर्फबारी

0
48

द लीडर हिंदी : मौसम में एक बार फिर बदलाव देखा जा सकता है.उत्तर प्रदेश में कभी खिली धूप, तो दूसरी तरफ बारिश के चलते मौसम करवट बदल रहा है.तो वही बीते 30 दिनों के अंदर यह पांचवा दौर है, जब पश्चिमी विक्षोभ सबसे ज्यादा सक्रिय होने जा रहा है.बता दें मार्च में पहाड़ों पर बारिश के साथ बर्फबारी, उत्तर और मध्य भारत के मैदानी इलाकों में भी वर्षा की उम्मीद जताई जा रही है.

वही मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक अगले सात दिनों तक मैदान से लेकर पहाड़ी इलाकों में मौसम बदला रहेगा. पहाड़ों पर बर्फबारी तो मैदानी इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की गई है.बता दें फरवरी शुरू होते ही ठंड से लोगों को थोड़ी राहत मिली थी. वही पूरे उत्तर-पश्चिम भारत में इन सर्दियों में बारिश कम रही और पश्चिमी हिमालय पर बर्फबारी में देरी हुई. लेकिन, आने वाले दिनों में मौसम का मिजाज बदलने वाला है.

मौसम विभाग के वैज्ञानिकों का कहना है कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, हिमाचल, जम्मू कश्मीर, लद्दाख, मध्यप्रदेश समेत राजस्थान के कुछ हिस्सों और उत्तर प्रदेश में मौसम के बदलाव का सीधा असर देखने को मिल सकता है.वही मौसम विभाग की माने तो 1 मार्च से लेकर 4 मार्च तक पहाड़ों पर एक बार फिर से जमकर बर्फबारी होने की संभावनाएं बन रही हैं. जबकि मैदानी इलाकों में तेज बारिश होगी.

आपको बता दें मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक अगले 48 घंटे के अंदर एक बार फिर से उत्तर पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने जा रहा है. इसकी सक्रियता से दो दिन पहले यानि सोमवार और मंगलवार को आधी रात को भारत में इसका सीधा असर होने वाला है. इसके चलते तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि और बिजली गिरने की संभावनाएं बनी हुई हैं. जबकि उत्तर भारत के राज्यों में बादलों की आवाजाही के साथ कहीं-कहीं पर हल्की-फुल्की बूंदाबांदी भी हो सकती है.

ये पढ़ें-https://theleaderhindi.com/pwd-minister-jitin-prasad-reached-bareilly-inspected-mahadev-setu-bridge-before-inauguration-said-no-flaw-in-quality-will-be-tolerated/

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता 29 फरवरी से पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में देखने को मिलेगी. इस दौरान 1 मार्च से 4 मार्च तक पहाड़ी इलाकों के आसपास के मैदानी इलाकों में इसका असर होगा.आंधी, बारिश, ओलावृष्टि और बर्फबारी के साथ तेज तूफान का भी अनुमान लगाया जा रहा है.

मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक जहां हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में 1 से 2 मार्च तक बारिश और बर्फबारी का अनुमान है। वहीं एक मार्च को उत्तराखंड के अलग-अलग स्थानों पर ओलावृष्टि की भी संभावनाएं बन रही हैं। इसके अलावा मैदानी इलाकों में पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश समेत राजस्थान के कुछ हिस्सों में अगले 7 दिनों तक मौसम बदलने का अनुमान लगाया जा रहा है.