Weather Updates: असम में लगातार बारिश और बाढ़ से त्राहिमाम, लाखों लोग प्रभावित, जानें अन्य राज्यों में मौसम का हाल ?

0
63

द लीडर। देश के कई हिस्सों में भारी बारिश और आंधी तूफान से लोगों का बुरा हाल है. कोरोना के बीच देश में आंधी बारिश ने लोगों की मुश्किलों को और बढ़ा दिया गया है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने पूर्वोत्तर के राज्यों के लिए ऑरेंज अलर्ट से लेकर येलो अलर्ट जारी कर दिया है.

बीते कुछ दिनों से असम में लगातार बारिश और बाढ़ के चलते लाखों लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं, पड़ोसी राज्यों त्रिपुरा, मिजोरम और मणिपुर के कुछ हिस्सों में स्थिति खराब बनी बनी हुई है जिसको लेकर मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों के लिए अलर्ट जारी कर दिया है.


यह भी पढ़ें: सपा के कद्दावर नेता आजम खान करीब 27 महीने बाद जेल से बाहर आए, अखिलेश बोले- झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं

 

पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में जानें मौसम का हाल

असम

असम में गुरुवार को बाढ़ की स्थिति और बिगड़ गई और इससे एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई. प्रदेश के 27 जिले और यहां रहने वाले करीब 7.18 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की दैनिक बाढ़ रिपोर्ट के अनुसार नगांव जिले के कामपुर राजस्व क्षेत्र में एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई.

इसमें कहा गया है कि, इसके अलावा कामपुर में दो और लोग लापता हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके साथ ही राज्य में बाढ़ और भूस्खलन से इस साल मरने वालों की संख्या बढ़ कर दस हो गई है. वहीं, मौसम विभाग ने स्थिति को देखते हुए 21 मई राज्य में ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है.

मेघालय

मौसम विभाग ने मेघालय में भी ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है. ये अलर्ट 21 मई तक के लिए जारी किया गया है. विभाग के मुताबिक, भारी बारिश की स्थिति बनी हुई है जिसके लिए उन्होंने नागरिकों को चेतावनी दी है. विभाग ने मेघालय के अधिकतर जिलों में 100 मिमी प्रतिदिन से अधिक बारिश होने की संभावना जताई है. तापमान की बात करें तो राज्य के अधिकतर जिलों में न्यूनतम तापमान 16 डिग्री तो अधिकतम तापमान 21 डिग्री तक रह सकता है.

अरुणाचल प्रदेश

अरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश और भूस्खलन ने तबाही मचाई हुई है. राजधानी ईटानगर में बारिश के चलते बीते दिन भूस्खलन होते दिखी जिसमें अब तक 4 लोगों की मौत तो 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. वहीं अब मौसम विभाग ने शनिवार तक के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है. राज्य के अधिकतर जिलों में आज 16 डिग्री न्यूनतम तापमान और 21 डिग्री अधिकतम तापमान रह सकता है.

मणिपुर

मणिपुर में बीते कुछ दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश समेत भूस्खलन के चलते जनजीवन पूरी तरह प्रभावित होते दिखा है. राज्य सरकार ने बयान जारी कर कहा है कि, वो समस्याओं से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. वहीं मौसम विभाग ने शनिवार तक के लिए येलो अलर्ट जारी कर दिया है.

बता दें, बाढ़ और भूस्खलन के चलते बेली पुल ढह गया जिस कारण इम्फाल जिरीबाम राजमार्ग काट दिया गया है. मौसम विभाग ने पूर्वोतर के त्रिपुरा, नागालैंड और मिजोरम के लिए येलो अलर्ट शनिवार तक के लिए जारी किया हुआ है.


यह भी पढ़ें:  भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने औरंगाबाद में स्थित मुगल बादशाह औरंगजेब के मकबरे को पांच दिन के लिए किया बंद, मनसे ने दी थी धमकी

 

झारखंड में 10 से 15 जून के बीच मॉनसून

झारखंड में 10 से 15 जून के बीच मॉनसून आ सकता है. 17 मई से अंडमान में मॉनसून की बारिश शुरू हो गयी है. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि एक जून से पूर्व ही केरल में मॉनसून आ सकता है.

इस वर्ष अंडमान निकोबार में तय समय से छह दिन पहले मॉनसून की बारिश शुरू हो गयी है. आम तौर पर अंडमान में 22 मई के आसपास मॉनसून आता है. मौसम विभाग ने पूर्वानुमान किया है कि मॉनसून की बारिश सामान्य होगी.

भारी बारिश से लोगों की बढ़ी मुश्किल

दिल्ली में आंशिक बादल छाए रहने का अनुमान

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार की सुबह गर्म रही और न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक, 28.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को गरज के साथ छीटें पड़ने और बिजली चमकने की संभावना के साथ आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने का अनुमान जताया है.

केरल में मूसलाधार बारिश

केरल में मूसलाधार बारिश के चलते भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने 12 जिलों में पूरे दिन के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. आईएमडी ने पहले पूर्वानुमान जताया था कि दक्षिण-पश्चिम मानसून 27 मई तक राज्य में दस्तक दे सकता है. इस बार मानसून के सामान्य तारीख से पांच दिन पहले आने के आसार हैं.

कर्नाटक में अलर्ट

इस बीच मौसम विभाग ने बेंगलुरु, दक्षिण कन्नड़, उत्तर कन्नड़, बगलकोट, चिकमंगलुरु, मैसूर, हावेरी, गडग, रायचूर, मांड्या, चित्रदुर्ग, दावणगेरे, कोप्पल, बेल्लारी और शिवमोगा में हल्की से मध्यम बारिश और तेज हवाओं तथा गरज के साथ बिजली गिरने का अनुमान व्‍यक्‍त किया है.

बिहार का मौसम

गुरुवार को दोपहर में जबरदस्त तपिश और वायुमंडल में बढ़ी हुई नमी के संयोग से बिहार के पश्चिम में गोपालगंज से लेकर पूर्व में कटिहार तक जबरदस्त आंधी चली. आंधी के साथ-साथ कई जगहों पर पानी भी बरसा.

आंधी के दौरान पेड़ व झोंपड़ी गिरने व ठनके से राज्य भर में 23 से अधिक लोगों की मौत हो गयी, जबकि कई घायल हो गये. हालांकि, आपदा प्रबंधन विभाग ने नौ लोगों के मरने की पुष्टि की है. मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक अगले चार दिन भी पूरे बिहार में थंडर स्टोर्म का अलर्ट जारी किया है.

मॉनसून के अगले हफ्ते के शुरू में केरल पहुंचेगा

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पर जल्दी पहुंचने के बाद दक्षिण पश्चिम मॉनसून केरल की ओर बढ़ रहा है और मौसम विभाग ने अगले सप्ताह के मध्य तक प्रदेश में इसके दस्तक देने की संभावना जताई है.

राजस्थान के अधिकतर हिस्से लू की चपेट में

राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में गुरुवार को लू (गर्म हवाओं) का प्रकोप बना रहा और सभी प्रमुख स्थानों पर तापमान में एक डिग्री से चार डिग्री सेल्सियस तक की वृद्धि दर्ज की गई. भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार राज्य के सभी प्रमुख स्थानों पर दिन का तापमान सामान्य से दो डिग्री से पांच डिग्री तक अधिक दर्ज किया गया.


यह भी पढ़ें:  बिहार के 11 साल के वायरल ब्वॉय सोनू कुमार ने CM नीतीश से लगाई थी गुहार… लेकिन मदद को आगे आए सोनू सूद