इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों और सुरक्षा गार्डों के बीच हिंसक झड़प, छात्रों ने कई वाहनों को किया आग के हवाले

0
38

द लीडर हिन्दी: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद विश्वविद्यालय में सोमवार को छात्रों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हो गई। यूनिवर्सिटी परिसर में जमकर बवाल मचा हुआ है। सुरक्षागार्डों ने कई राउंड फायरिंग की। जिसमें कई छात्र घायल हो गए। आक्रोशित छात्रों ने पुलिस पर पथराव भी किया। घंटे भर में यूनिवर्सिटी कैंपस छावनी में बदल गई। मामला इस तरह से बेकाबू हो गया कि पुलिस को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए फायरिंग करनी पड़ी। जानकारी मिलने पर पुलिस कमिश्नर और जिलाधिकारी मौके पर पहुंचे और छात्रों से बात करने की कोशिश की।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ छात्रों का 101 दिनों से धरना प्रदर्शन चल रहा था। इससे छात्रों और विश्वविद्यालय प्रशासन के बीच तनाव का माहौल बना हुआ था। सोमवार को एक छात्र नेता ने विश्वविद्यालय में घुसने की कोशिश की तो गार्ड्स ने रोक दिया। इसे लेकर विवाद बढ़ा तो छात्रों ने पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद गार्डों ने हालात को काबू में करने के लिए फायरिंग की, जिससे छात्र और ज्यादा भड़क गए।

बताया गया कि छात्र नेता विवेकानंद पाठक के कैंपस में घुसने को लेकर यह बवाल शुरू हुआ। पाठक का इसे लेकर कहना है कि मेरा खाता यूनिवर्सिटी के एसबीआई ब्रांच में है। मैं केवाईसी के लिए आया था। मैंने गार्ड से ताला खोलने के लिए कहा तो उसने मेरे साथ बदसलूकी की। फिर गार्ड अपने साथियों के साथ हथियारों से लैस होकर आया। मैं साथियों के साथ बैठा था तो मुझ पर हमला किया। फायरिंग भी की। मेरी जान बच गई। चोट लगने से विवेकानंद पाठक घायल हो गए। छात्र नेता पाठक ने आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय के गार्ड प्रशासन की शह पर छात्रों की जान लेना चाहते हैं।

वहीं गार्ड का कहना है कि छात्रनेता ने जबरन विश्वविद्यालय में घुसने की कोशिश की। रोकने पर कहासुनी हुई और बवाल हो गया। खबर के मुताबिक, छात्रों के साथ झड़प के बाद हालात पर काबू पाने के लिए गार्ड्स ने फायरिंग की। इसके बाद कैंपस में पुलिस बुला ली गई। पुलिस के आने के बाद छात्र और भड़क गए और उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। आक्रोशित छात्रों ने कैंपस में खड़ीं कई गाड़ियों को तोड़फोड़ की और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

विश्वविद्यालय में बवाल जारी है। बवाल को देखते हुए जिले के आला अधिकारी सुरक्षा उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने छात्रों के साथ बात करने की कोशिश की लेकिन छात्र इसके लिए तैयार नहीं हो रहे हैं। मौके पर जिलाधिकारी और कमिश्नर मौजूद हैं। भारी पुलिस फोर्स भी मौके पर तैनात है। छात्र नारेबाजी और पत्थरबाजी कर रहे हैं।