उत्तराखंड : त्रिवेंद्र का इस्तीफा तैयार, धन सिंह को बुलाया

0
173
Uttarakhand Trivandra Ddhan Singh

द लीडर, देहरादून : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का इस्तीफा तैयार है। जिसे वह राज्यपाल को सौंपने 4 बजे जाएंगे। पार्टी प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान ने आनन फानन में पत्रकारों को बुला कर सिर्फ इतना बताया कि मुख्यमंत्री खुद तीन बजे पत्रकारों को सब बताएंगे। (Uttarakhand Trivandra Ddhan Singh)

त्रिवेंद्र की प्रेस कांफ्रेंस में कुछ विलंब भी संभावित है। 4 बजे उन्होंने राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से मिलने का समय लिया है।

इस बीच उच्च शिक्षा राज्यमंत्री धन सिंह रावत को सरकारी हेलीकॉप्टर भेज कर श्रीनगर से बुला लिया गया है। धन सिंह मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह की ही पसंद बताए जा रहे हैं। उपमुख्यमंत्री के लिए पुष्कर धामी का नाम भी आ रहा है।

आगे क्या होने वाला है इस पर मुन्ना सिंह का जवाब था मुख्यमंत्री लगातार परामर्श में लगे हैं। इससे लगता है बहुत संभव है जो चर्चा है उससे इतर भी कुछ हो जाये। इस बीच पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि नए सीएम का शपथग्रहण 11 को हो सकता है, तब तक सीन बदल भी सकता है।

त्रिवेंद्र रावत पहले विधानमंडल दल की बैठक बुलाकर अपनी ताकत दिखाना चाहते थे. जिसके लिए उन्होंने रात को निमंत्रण भी भेज दिए थे. बाद में आलाकमान की आपत्ति पर इस बैठक को रद कर दिया गया है. अब चर्चा है कि केंद्रीय पर्यवेक्षक रमन सिंह की मौजूदगी में विधायक दल की बैठक बुलाई जाएगी. इसमें मुख्यमंत्री का चुनाव होगा.

उत्तराखंड : त्रिवेंद्र देहरादून लौटे, चार बजे राजभवन में खुलेगा खेल

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री दिल्ली में विरोधियों के बरक्श अपनी जोर आजमाइश के बाद मंगलवार सुबह देहरादून लौट आये हैं। एयरपोर्ट पर किसी से बात किये बिना वे सीधे अपने आवास पहुंचे। खबर है कि उन्होंने शाम चार बजे राज्यपाल से राजभवन जाकर मिलने का समय ले लिया है। वह इस्तीफा देंगे या नहीं और विकल्प कौन तैयार हुआ इसका खुलासा शाम को ही होगा।

त्रिवेंद्र जिस तरह गंभीर मुद्रा में लौटे हैं उससे चार बजे राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने की अटकलों को ही बल मिल रहा है। उनकी कुर्सी खींचने में लगे खेमे से इतना संकेत दिया जा रहा है कि नया नाम चौंकाने वाला होगा।

बीती रात पहले दिल्ली से त्रिवेंद्र का संदेश मिलने पर उनके निवास पर ही शाम को विधानमंडल दल की बैठक बुलाने की सूचना जारी की गई। पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात होने के बाद फिर संदेश आया कि बैठक नहीं होगी।

तदनुसार नए सिरे से विधायको को सूचना भेजी गई। कल रात ही त्रिवेंद्र सी एम के दावेदारों में शामिल अनिल बलूनी से भी मिले। इस मुलाकात के बाद खबर आई कि त्रिवेंद्र मंगल को अनिल बलूनी को साथ लेकर ही देहरादून पहुंचेंगे।


उत्तराखंड संकट : कोश्यारी दिल्ली पहुंचे, महाराज का नाम सबसे ऊपर


 

त्रिवेंद्र अकेले ही आये। इस बीच रात भर दिल्ली से नए नए अपडेट मिलते रहे। जिनका संदेश यही बन रहा था कि अमित शाह ने त्रिवेंद्र का संकट टालने की कोशिश तो बहुत की लेकिन विरोधियों की जबरदस्त मोर्चाबंदी औऱ त्रिवेंद्र के खिलाफ रखे दूसरे तथ्य भारी पड़ते दिखे। बताते हैं कि एक दावेदार को तो अमित शाह ने बुरी तरह डांट भी दिया। बहरहाल अब त्रिवेंद्र समर्थक भी ज्यादा मुखर नहीं हैं।

बीती रात पार्टी प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान ने भी मीडिया से बात की । त्रिवेंद्र को हटाए जाने संबंधी सवाल को वह आलाकमान का मामला बता कर टाल गए।
पहले नेतृत्व परिवर्तन की संभावनाओं को खुल कर नकार रहे प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत का भी अभी कोई नया बयान नहीं आया है। इस बीच सियासी हलकों में मुख्यमंत्री के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष के भी बदलने की चर्चा चल पड़ी है।


हरिद्वार कुंभ में महामंडलेश्वर बनने जा रहीं मुस्लिम समुदाय की छोटी बेगम


 

जाहिर है विधायकों का समर्थन या विरोध राज्यपाल से मिलने की वजह नहीं हो सकती। भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में है और विपक्ष को मुख्यमंत्री बदलने से कोई सरोकार नहीं। ऐसे में मौजूद हालात के मद्देनजर त्रिवेंद्र के राज्यपाल से मिलने की वजह एक ही हो सकती है। कहा तो यह भी जा रहा है कि आज ही दूसरे मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण भी हो सकता है लेकिन फिलहाल अभी तक ऐसी कोई तैयारी नहीं दिख रही है।

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here