उत्तराखंड आपदा : सोमवार को 4 और शव बरामद, अब तक 59 लोगों के मरने की तस्दीक

0
820
Uttarakhand Disaster Notification Death Certificate
उत्तराखंड की तपोवन झील के अंदर पहुंचीं जिलाधिकारी और एसपी. फाइल फोटो

द लीडर टीम, उत्‍तराखंड : सात फरवरी को आयी बाढ़ के बाद तपोवन पावर प्रोजक्ट की सुरंग में फंसे करीब 35 मजदूरों की जिंदगी की आस अब लगभग खत्म लग रही है. सोमवार को तपोवन सुरंग से तीन और मैठाणा से एक शव यानी कुल चार शव बरामद हुए हैं. जबकि रविवार को 15 शव बरामद किए गए थे. इस तरह इस आपदा में अब तक करीब 59 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. (Uttarakhand Disaster Bodies Recovered)

सात दिन से टनल में फंसे करीब 35 कामगारों की तलाश में अभ‍ियान चल रहा है. एनटीपीसी के परियोजना निदेशक उज्जवल भट्टाचार्य के मुताबिक तपोवन सुरंग में हम लोग अभी 135 मीटर पहुंच गए हैं. 10-15 मीटर तक और मलबा साफ करने के बाद पानी निकलने लगेगा. हमें उम्मीद है कि जल्द ही सुरंग में और आगे बढ़ पाएंगे.

सुरंग में फंसे लोगों के अलावा अभी लिस्ट के मुताबिक करीब 159 लोग अभी भी लापता हैंं. इनमें ज्यादातर के बाढ़ में बह जाने या मलबे में गहरे धंसे होने की आशंका है.

सुरंग के अदंर आगे गाद की मात्रा काफी है जिसे साफ करने में राहत दल को दिक्कत आ रही है और अंदर का हाल देख कर नहीं लगता कि इस गाद में कोई जिंदा मिल पाए. दोनों स्थलों पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें दिन रात काम में लगी हैं.

 


उत्तराखंड आपदा : देखिए कैसी है हिमालय पर बनी नई झील


 

सोमवार को जिलाधिकारी स्वाति भदौरिया ने कहा क‍ि आज अभी तक तीन शव म‍िले हैं. टनल और बैराज साइटपर लगातार मशीनों के जर‍िये काम चल रहा है.

 

डीएम ने कहा क‍ि रैणी क्षेत्र में भी राहत बचाव जारी है, और हमारी कोश‍िश है क‍ि लापता लोगों को जल्‍द तलाश क‍िया जाए.

इससे पहले र‍व‍िवार को एसडीआरएफ के कमांडेंट नवनीत मुल्लर करीब 14 हजार फुट की ऊंचाई पर ऋषि गंगा में बनी झील पर पहुंचे. और बताया कि झील से काफी अच्छी मात्रा में साफ पानी डिस्चार्ज हो रहा है. इसलिए खतरे की कोई बात नहीं है.

11 शवों की शिनाख्त

रविवार को तपोवन सुरंग और रैणी में मिले 11 शवों की शिनाख्त हो चुकी है, जिसमें चार उत्तराखंड, दो गोरखपुर, एक जम्मू-कश्मीर, एक फरीदाबार, एक रामपुर, एक हिमाचल और एक मृतक पंजाब से है. सुरंग में एवं रुद्रप्रयाग में देर शाम मिले दो शवों की शिनाख्त नहीं हो पाई है. चमोली जिला अस्पताल में हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक सुरंग में सभी की मौत दम घुटने से हुई है.

मृतकों के नामों की सूची

आलम सिंह पुत्र सुंदर सिंह, निवासी- टिहरी गढवाल, अनिल पुत्र भगत सिंह, निवासी कालसी, देहरादून, जीतेंद्र कुमार पुत्र देशराज, निवासी जम्मू कश्मीर, शेषनाथ पुत्र जयराम, निवासी फरीदाबाद, जितेंद्र धनाई पुत्र मतवार सिंह, निवासी टिहरी गढवाल, सूरज ठाकुर पुत्र श्रीनिवास, रामपुर कुशीनगर, जुगल किशोर पुत्र राम कुमार, निवासी पंजाब, राकेश कपूर पुत्र रोहन राम, निवासी हिमाचल प्रदेश, हरपाल सिंह पुत्र बलवंत सिंह, निवासी चमोली, वेद प्रकाश पुत्र राजेंद्र सिंह, निवासी गोरखपुर, धनुर्धारी पुत्र राम ललित सिंह, निवासी गोरखपुर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here