यूपी : वहशियत की हदें पार, 12 साल की बच्ची को मारकर घर के गड्ढे में दबाया, दुष्कर्म की आशंका, आरोपी गिरफ्तार

0
150
UP Killed 12 Year Girl Rape
एसएसपी बुलंदशहर.

द लीडर : उत्तर प्रदेश में महिला अपराध की विभत्स घटनाओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक दिन पहले हाथरस में यौन उत्पीड़न के एक आरोपी ने लड़की के पिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी. अब बुधवार को बुलंदशहर से दिल दहलाने वाली दो घटनाएं सामने आई हैं. पहली घटना में नाबालिग बच्ची की हत्या और दुष्कर्म की आशंका से जुड़ी है. आरोपी ने उसे मारकर अपने घर के आंगन में दबा दिया था. (UP Killed 12 Year Girl)

मामला अनूपनगर थाना क्षेत्र के एक गांव है. 25 फरवरी को 12 साल की एक नाबालिग बच्ची अपनी मां और बहन के साथ खेत पर काम करने गई थी. जहां से वह लापता हो गई. तलाशने पर नहीं मिली, तो परिजनों ने 28 फरवरी को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. और हरेंद्र नामक व्यक्ति पर उसे गायब करने की आशंका जताई. बुधवार को पुलिस ने आरोपी हरेंद्र को हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार किया है.वहीं, लड़की की लाश, हरेंद्र के आंगन में एक गड्ढे से बरामद की गई है.

दुष्कर्म की आशंका से इनकार नहीं

बुलंदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आरोपी ने अपना जुर्म कबूल लिया है. उसने बताया कि लड़की घर में पानी पीने आई थी. लड़की पर उसकी नीयत खराब हो गई. दुष्कर्म का प्रयास किया. चिल्लाने पर घला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. वहीं, बुलंदशहर के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने भी पत्रकारों से कहा कि यौन शोषण की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है. इस मामले में कठोर कार्रवाई करेंगे.


UP : किरदार पर शक में पागल शख्स ने बीवी-दो बेटियों को हथौड़े से मार डाला, तीसरी बेटी लड़ रही जिंदगी की जंग


दिल्ली में मजूदरी करता था आरोपी

एसएसपी के मुताबिक आरोपी दिल्ली में मजदूरी करता था और घटना के दिन ही वो घर लौटा था. उसके मकान में कोई अन्य सदस्य नहीं रहता था. पिता एक फॉर्म हाउस पर रहते हैं, जबकि भाई नागालैंड में मजदूरी करता है. घटना को अंजाम देकर वह हिमाचल भाग गया था.

शक में बीवी के साथ दो बेटियों को मार डाला

दूसरी घटना बुलंदशहर के आंबेडकर नगर की है. सईद शख्स अपनी बीवी और बेटियों पर शक करता था. इसी वजह से उसने मंगलवार की रात बीवी और तीन बेटियों पर हथौड़े से ताबड़तोड़ हमला किया. जिसमें बीवी सफीला, बेटी रजिया और शबनम की मौके पर मौत हो गई, जबकि सुल्ताना गंभीर रूप से घायल है. पुलिस की चार टीमें आरोपी की तलाश में जुटी हैं.


कैसे आयशा की मौत ने समाज, सरकार और धर्मगुरुओं की असलियत को उजागर कर दिया!


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here