हरियाणा के नूंह में दर्दनाक हादसा, श्रद्धालुओं से भरी बस में लगी भीषण आग, करीब 10 लोग जले, 2 दर्जन से ज्यादा झुलसे

0
35

द लीडर हिंदी: हरियाणा के नूंह में बीती रात बड़ा हादसा हो गया.यहां श्रद्धालुओं से भरी बस में भीषण आग लग गई. जिसमें 10 लोग जिंदा जल गए.जबकि 2 दर्जन से ज्यादा लोग झुलस गए. पुलिस ने यह जानकारी दी.बता दें कि तावड़ू उपमंडल की सीमा से गुजर रहे कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेसवे पर शुक्रवार-शनिवार की रात श्रद्धालुओं से भरी बस में अज्ञात कारणों से आग लग गई. हादसे में मरने वालों की संख्या 10 और घायलों की संख्या 28 बताई आ रही है. नल्हड़ अस्पताल में नौ शव पहुंचे हैं, जिसमें पांच की पहचान हो गई है.

गुरुग्राम लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार राज बब्बर अस्पताल घायलों को देखने पहुंचे.बता दें चलती बस में आग की लपटें देख स्थानीय लोगों ने आग बुझाने की कोशिश करते हुए पुलिस को सूचना दी. जिसके बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने बड़ी मशक्कत से आग पर काबू पा लिया.वही हादसे के शिकार लोग पंजाब और चंडीगढ़ के रहने वाले बताए गए हैं जो मथुरा और वृंदावन दर्शन कर लौट रहे थे. पुलिस जांच में जुट गई.मिली जानकारी े के मुताबीक बस में लगभग 60 से ज्यादा लोग सवार थे.

ड्राइवर को बस रोकने के लिए कहा लेकिन देर हो चुकी थी..
वही इस हादसे के दौरान मदद के लिए पहुंचे लोगों ने बताया कि रात करीब डेढ़ बजे उन्हें चलती बस में से आग की लपटें उठती दिखाई दी. उन्होंने आवाज देकर ड्राइवर को बस रोकने के लिए कहा लेकिन उसने बस नहीं रोकी. यानी बस में आग लगी थी और चालक को इसकी भनक तक नहीं थी. ऐसे में कुछ लोगों ने बाइक से बस का पीछा किया और ड्राइवर को बस में आग लगने की जानकारी दी. लेकिन जब तक बस रुकती बहुत देर हो चुकी थी. आग भड़क चुकी थी. अनहोनी में कुछ लोग जिंदा जल गए थे. इस दुर्घटना को जिसने देखा वो सहम गया.

इस दर्दनाक हादसे ने सभी को दहलाकर रख दिया है.वही इस हादसे के दौरान बस में सवार पीड़ित श्रद्धालु सरोज पुंज व पूनम ने बताया कि बीते शुक्रवार को एक टूरिस्ट बस किराए पर कर बनारस और मथुरा वृंदावन दर्शन के लिए निकले थे. बस में 60 लोग सवार थेजिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। यह सभी नजदीकी रिश्तेदार थे जो पंजाब के लुधियाना, होशियारपुर और चंडीगढ़ के रहने वाले थे. शुक्रवार-शनिवार की रात वह दर्शन कर वापस लौट रहे थे. देर रात डेढ़ बजे के करीब बस में आग की लपटें दिखाई दीं. उन्होंने बताया कि वह आगे की सीट पर बैठी हुई थीं. किसी तरह स्थानीय ग्रामीणों की मदद से उन्हें निकाल लिया गया.

टनास्थल पर मदद के लिए पहुंचे ग्रामीण साबिर,नसीम, साजिद, एहसान आदि ने बताया कि देर रात करीब 1:30 बजे एक चलती बस में उन्हें आग की लपटें दिखाई दीं. उन्होंने आवाज लगाकर चालक को बस रोकने को कहा लेकिन बस नहीं रुकी. फिर एक युवक ने मोटरसाइकिल पर सवार होकर बस का पीछा किया और चालक को आग लगने सूचना दी. इसके बाद बस रुकी लेकिन तब तक बस में आग काफी तेज हो चुकी थी.

मिली जानकारी के मुताबीक ग्रामीणों ने अपने स्तर पर आग बुझाने की कोशिश की. साथ ही पुलिस को भी सूचना दी. वही ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस और फायर ब्रिगेड की गाड़ी बहुत देर से पहुंच. तब तक बस में सवार लोग बुरी तरह झुलस चुके थे. जिनमें 8 से ज्यादा लोगों मौत हो गई. तावडू सदर थाना पुलिस ने एंबुलेंस बुलाकर अस्पताल भिजवाया.

वही हादसे की सूचना मिलने के कुछ देर बाद पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारणिया भी अपने दलबल के साथ मौके पर पहुंचे. उन्होंने पूरे जानकारी ली.पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारणिया ने बताया कि हादसे में आठ लोगों की मौत हुई है. करीब दो दर्जन घायल हैं.सभी को इलाज के लिए अस्पताल भिजवा दिया है.वही पुलिस कार्रवाई में जुटी है. इसके अलावा तावडू एसडीएम संजीव कुमार, तावडू सदर थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार व डीएसपी आदि मौके पर पहुंचे.इस दौरान मार्ग पर वाहनों की लंबी कतार लगने से जाम की स्थिति बन गई.पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद पूरी स्थिति को नियंत्रण में लिया.