पटना की सड़कों पर लोहिया का विचार जिंदा रखने निकले तेजस्वी यादव

0
171
Tejashwi Yadav Lohia Idea Alive Patna
नितीश सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शामिल आरजेडी नेता तेजस्वी यादव व अन्य.

बिहार : सड़कें खामोश हो जाएं, तो संसद आवारा हो जाएगी. जनता की चुनी हुई सरकारों को जवाबदेह बनाए रखने के लिए डॉ. राम मनोहर लोह‍िया आंदोलन की पैरोकारी किया करते थे. आज उनका जन्मदिवस है. वह 23 मार्च 1910 में अकबरपुर में पैदा हुए थे. खास बात ये है कि जिस दिन लोहिया पैदा हुए थे, उसी तारीख को भारत मां के तीन क्रांतिकारी सपूतों-भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी दी गई थी.

लोहिया अपने जन्मदिन को शहादत दिवस के रूप में मनाया करते थे. अपने आचार-विचार से लोहिया भी युवाओं को जगाते रहे. और उनमें क्रांति का जोश भरने में लगे रहे. वह ताउम्र जनता के हक के लिए लड़े. यही वजह है कि जब भी देश में कोई बड़ा आंदोलन होता है, उसमें का अगुवा लोहिया का वो विचार बनता है-

मंगलवार को जब पटना की सड़कों पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD)नितीश सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करने निकली. उससे पहले तेजस्वी यादव और अन्य नेताओं ने भारत मां के तीनों क्रांतिकारी सूपतों के साथ लोहिया के चित्र पर पुष्प अर्पित किए. इसके बाद आंदोलनकारियों की भीड़ निकली. उनके हाथों में लोहिया के विचार से प्रेरित पोस्टर थे.


फांसी का फंदा पहने भगत सिंह मुस्कुराते हुए बोले-मिस्टर मजिस्ट्रेट आप बड़े खुशकिस्मत हैं


 

दरअसल, भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था और सुशासन के मुद्दे पर आरजेडी लगातार नितीश सरकार को घेरती रही है. तेजस्वी ने क्रांतिकारों को नमन करते हुए ट्वीट किया, ‘आज लोहिया जयंती, शहीद दिवस पर सर्व सर्वस्त्र न्योछावर करने वाले भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु से प्रेरणा लेते हुए पटना की सड़कों को आबाद करेंगे, ताकि नितीश सरकार बिहार के युवाओं को बर्बाद न कर दे.’ (Tejashwi Yadav Lohia Idea Alive Patna)

आरजेडी ने कहा कि बिहार के बेरोजगार युवाओं, संविदाकर्मियों, शिक्षकाें और महंगाई, कानून व्यवस्था, अफसरशाही-भ्रष्टाचार की मार सह रहे हैं आम नागरिक. इसलिए इस निरंकुश सत्ता के आगे न झुकना है न ही रुकना है. इससे पहले तेजस्वी यादव ने राजद समाचार पत्रिका का विमोचन किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here