राजकाज के नए सबक के लिए दिल्ली पहुंचे तीरथ

0
88

 

द लीडर देहरादून

एक सप्ताह तक राजकाज का मिजाज समझने और आलाकमान द्वारा तय प्रारंभिक सफाई अभियान निपटा कर उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत दिल्ली पहुंच गए हैं। इस दो दिवसीय प्रवास में वह राष्ट्रीय नेतृत्व से अगले निर्देश प्राप्त करेंगे। पार्टी अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा  से उनकी खास मुलाकात होनी है। इस बीच वह अन्य नेताओं से विमर्श करेंगे।

मुख्यमंत्री का पदभार संभालने के बाद पहली बार दिल्ली पहुंचने पर उत्तराखंड सदन में भव्य स्वागत हुआ। बड़ी संख्या में सदन में मौजूद उत्तराखंड मूल के लोगों ने मुख्यमंत्री का फूल-मालाओं से स्वागत किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार जनभवनाओं के अनुरूप कार्य करेगी। जनता जो चाहेगी वही किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दिशा-निर्देशन में उत्तराखंड का चहुमुंखी विकास किया जाएगा। उत्तराखंड के प्रति प्रधानमंत्री के अपार लगाव की बदौलत ही यहां चारधाम ऑल वैदर रोड, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल प्रोजेक्ट, केदारनाथ-बदरीनाथ धाम पुनर्निर्माण समेत तमाम परियोजनाएं संचालित हो रही हैं। पिछले सात दिन में लिए गए निर्णयों के हवाले से अपनी मंशा स्पष्ट की। इस मौके पर नैनीताल के सांसद अजय भट्ट, कैबिनेट मंत्री अरविन्द पांडेय, पूर्व सांसद बलराज पासी समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

यूँ तो सीएम तीरथ रावत कुछ दिन बाद दिल्ली जानेकी योजना थी। पार्टी नेतृत्व का आभार जताने के साथ केंद्रीय मंत्रियों के साथ भी विकास योजनाओं पर चर्चा करनी थी। इस बाबत अधिकारियों को तैयारी के निर्देश भी दिए गए थे। दिल्ली दौरा 21 मार्च से शुरू होना था लेकिन समझा यह जा रहा है देहरादून की कुछ प्रतिक्रियाओं के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सीएम को दिल्ली बुला लिया। वैसे सल्ट उपचुनाव में प्रत्याशी चयन व अन्य मुद्दों पर भी चर्चा की बात कही जा रही है।
समझा जा रहा है कि तीरथ द्वारा बदले गए पिछले राज के फैसलों पर भी कुछ प्रतिक्रियाएं केंद्र के पास पहुंची हैं। मंत्रिमंण्डल के फैसलों पर भी बात हुई है । पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह की अगली भूमिका पर भी इस दौरे के बाद आलाकमान कोई फैसला दे सकता है। रावत को खुद सल्ट सीट से लड़ना है या उनके लिए दूसरी सीट खाली की जाएगी यह भी चर्चा का विषय होगा। तीरथ की पौड़ी सीट से शौर्य डोभाल लड़ेंगे या कोई और इस बारे में भी फैसला लिया जाना है। अपने मंत्रियों के मिजाज का फीडबैक भी तीरथ नड्डा को देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here