ताज महोत्सव आज से: जानिए, कौन था ताजमहल का असली आर्किटेक्ट

0
1849

दुनिया के अजूबों में शामिल ताजमहल। मुहब्बत की यादगार इस इमारत की ओर अक्सर लाेगों को अपनी ओर खींच लेती है। मुगलकाल के वास्तुशिल्प का यह नायाब नमूना है।

इसका वास्तुशिल्प खासियत है, जिसकाे लेकर जाने कितने किस्से लोगों की जबान पर रहते हैं।

जैसे यही, कि इसको बनाने वालों के मुगल शहंशाह शाहजहां ने हाथ कटवा दिए, जिससे ऐसी कोई दूसरी इमारत न बन सके।


हिंदुओं से जजिया और धर्मपरिवर्तन पर रोक लगाने वाले इस शहंशाह का आज के दिन हुआ था राजतिलक


बहरहाल, अब तक कि जानकारी यही है कि ताजमहल के असल आर्किटेक्ट उस्ताद अहमद लाहौरी थे। यह जानकारी उनके वंशज लुत्फुल्लाह मुहांदी के लिखित दावे पर आधारित है। उस्ताद अहमद लाहौरी ने ही दिल्ली के लाल किले की नींव रखी थी।

एक दूसरे वास्तुकार मीर अब्दुल करीम का भी नाम ताजमहल के वास्तुशिल्प से जुड़ा है, जो पूर्व बादशाह जहांगीर प्रिय वास्तुकार रहे। उन्हें ताजमहल के निर्माण के समय मक्रामत खां के साथ पर्यवेक्षक नियुक्त किया किया गया था।

उस्ताद ईसा का भी नाम आता है ताजमहल के वास्तुशिल्प को लेकर। अक्सर उन्हें प्रधान वास्तुकार बताया जाता है। जिन्हें फारसी या फिर तुर्क वास्तुकार बताया जाता है।


क्यों अक्सर हर परिवार में नई पीढ़ी जिद, जल्दबाजी और गलतियां करती है


भरोसेमंद जानकारी न होने से कई बार अफवाहें उड़ती रही हैं कि किसको ताजमहल नक्शा खींचने का श्रेय दिया जाए।

इतिहासकार बताते हैं कि उन्नीसवीं शताब्दी में इस खूबसूरत स्मारक के वास्तुकार का श्रेय दिए किसी यूरोपीय को दिए जाने की कोशिश हुई।

स्थानीय लोगों से मिली सूचना के अनुसार, तभी कारीगरों की एक फर्जी सूची भी बना कर दे दी गई, साथ ही पूरे एशिया भर से लाए गए सामान की सूची भी, जिससे कि अंग्रेज कोई यूरोपीय वास्तुकार को इस इमारत का झूठा श्रेय न दे दें।

बताया जाता है कि इसी दौरान काल्पनिक वास्तुकार उस्ताद ईसा का नाम भी आया।

कहा जाता है कि शाहजहां ने किसी दूसरे मुगल बादशाह मुकाबले आार्किटेक्चर पर ज्यादा ध्यान दिया। वास्तुकारों के साथ नियमित बैठक करने की बात भी कही जाती है।

उसके वृत्तांतकार लाहौरी लिखते हैं, शहंशाह शाहजहां ने प्रतिभावान वास्तुकारों द्वारा बनाई गईं इमारतों के रूपांकनों के लिए कई बार बेहतर सुझाव दिए और उससे जुड़े सवाल भी किए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here