शहबाज शरीफ दूसरी बार बने पकिस्तान के प्रधानमंत्री, सोमवार को राष्ट्रपति भवन में लेंगे शपथ

0
40

द लीडर हिंदी : आखिरकार पड़ोसी देश पाकिस्तान को नया प्रधानमंत्री मिल गया. पाकिस्तान में खंडित जनादेश आने के बाद रविवार को गठबंधन सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया. शहबाज शरीफ दूसरी बार पकिस्तान के प्रधानमंत्री बन गए हैं. नवनिर्वाचित संसद में बहुमत हासिल करने के बाद शहबाज शरीफ को गठबंधन सरकार का नेतृत्व करने के लिए दूसरी बार पाक के प्रधानमंत्री चुना है. 72 साल के शहबाज़, जो पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सर्वसम्मति से उम्मीदवार थे, को 336 सदस्यीय सदन में 201 वोट मिले. इस तरह शहबाज़ शरीफ़ पकिस्तान के 24 वें प्रधानमंत्री बन गए हैं.पीटीआई नेता उमर अयूब खान ने भी पीएम पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया था. हालांकि रविवार को हुए चुनाव में शहबाज शरीफ ने एकतरफा तरीके से जीत हासिल की।

वही जेल में बंद पूर्व पीएम इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के उमर अयूब खान, शहबाज शरीफ के प्रतिद्वंदिन के रूप में खड़े हुए थे उन्हें मात्र 92 वोट मिले थे. पाकिस्तान में 8 फरवरी को मतदान हुआ था। इसके बाद से प्रधानमंत्री पद के लिए PPP (बिलावल भुट्टो की पार्टी) और PMLN (नवाज शरीफ की पार्टी) में कई दौर की वार्ता हुई.

अन्ततः दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन की शर्तों पर सहमति हो गई. बिलावल भुट्टो की पार्टी ने राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार आसिफ अली जरदारी का नाम आगे किया था। वहीं PMLN की पार्टी ने प्रधानमंत्री पद के लिए शहबाज शरीफ के नाम पर सहमति जताई थी. बता दें कि, शहबाज शरीफ तीन बार के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के छोटे भाई हैं, जिन्होंने अपनी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पार्टी के चुनाव अभियान का नेतृत्व किया था.

पकिस्तान का प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद शहबाज़ शरीफ़ ने पकिस्तान में निवेश लाने और आर्थिक विकास को गति देने वाली आर्थिक स्थितियाँ बनाने का वादा किया है. पीएम शहबाज शरीफ़ ने भीड़ के हमले से अरबी प्रिंट शर्ट पहने एक महिला की जान बचाने के लिए लाहौर एएसपी शहर बानो नकवी की सराहना भी की.

https://theleaderhindi.com/know-when-the-first-roza-of-ramzan-will-be-observed-jantri-is-being-sent-from-dargah-aala-hazrat-in-india-and-abroad/

पीएम चुनाव जीतने के बाद शहबाज़ शरीफ़ ने भाषण में कहा कि, कहीं भी महिलाओं का उत्पीड़न अस्वीकार्य है. शहबाज ने यह भी कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान महिलाओं को समान नौकरी के अवसर और वेतन प्रदान किया जाएगा. नवनिर्वाचित पीएम शहबाज शरीफ ने देश में आतंकवाद और उसकी जड़ों को खत्म करने का भी वादा किया.