शफीकुर्रहमान बर्क हुए सुपुर्द-ए-खाक, लाखो लोग हुए ज़नाज़े में शामिल

0
39

द लीडर हिंदी : उत्तर प्रदेश के संभल से समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क को बुधवार सुपुर्द-ए-खाक किया गया. इस दौरान हजारों की संख्या में समर्थक मौजूद रहे. इस दौरान सभी दलों के नेता उनके आखिरी सफर में शामिल हुए.बता दें शफीकुर्रहमान बर्क के नमाजे जनाजा में हजारों की तादात में लोग शामिल हुए.

समाजवादी सिपाही और राजनीति में शिष्टता की मिसाल रहे सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क को बुधवार को हसनपुर रोड स्थित उनके दरियासिर के कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया. इस मौके पर शहर की दिग्गज राजनीतिक हस्तियों सहित उनके रिश्तेदार, परिवार के लोग, पार्टीजन और भारी संख्या में चाहने वाले मौजूद थे. आपको बतादें इससे पहले मंगलवार की सुबह मुरादाबाद के एक हॉस्पिटल में निधन हो जाने के बाद उनका शव दीपा सराय स्थित उनके आवास के बाद एक बैंकट हॉल पर लाया गया.

यहां पर सुबह से ही उनके आखिरी दीदार के लिए लोगों का हुजुम उमड़ना शुरू हो गया था. बता दें सांसद बर्क (93) लंबे समय से उम्र संबंधित बीमारियों से जूझ रहे थे और उन्हें मुरादाबाद के एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था, जहां मंगलवार को उन्‍होंने अंतिम सांस ली. गुर्दे में तकलीफ की वजह से पिछले कई दिनों से उन्हें मुरादाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था.जहां उनका निधन हो गया.

अपने बेबाक बयान से मशहूर शफीकुर्रहमान बर्क चार बार विधायक और कई बार सांसद रह चुके. डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क 2019 में सपा के चुनाव चिह्न पर पांचवीं बार संभल से सांसद चुने गए. बतादें बर्क का जन्म 11 जुलाई 1930 को उत्तर प्रदेश के संभल में हुआ था.

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/when-shafiqur-rahman-barq-put-netaji-in-trouble-know-that-memorable-story-of-28-years-ago/

सपा के टिकट पर 2019 में संभल लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर वह सदन पहुंचे थे. डॉ. बर्क ने तीन बार मुरादाबाद और दो बार संभल लोकसभा सीट से चुनाव जीता था. उनके पौत्र जियाउर्रहमान बर्क वर्तमान में मुरादाबाद की कुंदरकी विधानसभा सीट से सपा के विधायक हैं.भारत के सबसे उम्रदराज सांसद शफीकुर्रहमान बर्क की मौत के बाद यूपी के संभल की सियासत का अगला चहरा कौन होगा इस पर चर्चा शुरू हो गई है.