एक प्रमुख सचिव की हरकतों से उन्ही के कर्मचारी सड़को पर

0
97

लखनऊ | समाज कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव और विभागीय कर्मचारी-अधिकारियों का विवाद अब सड़को पर दिखने लगा है। बीते कई दिनों से विभाग के कर्मचारी-अधिकारीयो ने अपने ही विभाग के प्रमुख सचिव बीएल मीणा के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है और लगातार उन्हें पद से हटाने की मांग की जा रही है। इसको लेकर आज समाज कल्याण विभाग से लेकर जवाहर भवन तक पैदल मार्च निकाला गया।

यह भी पढ़े – उत्तराखंड : सांसद तीरथ सिंह बने नए सीएम, चार बजे लेंगे शपथ

बीते दिनों अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव बीएल मीणा ने निदेशक समाज कल्याण बाल कृष्ण त्रिपाठी को प्रदेश भर के अफसरों के साथ हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अपशब्द कहे थे। इस दुर्व्यवहार के बाद विभाग के निदेशक बाल कृष्ण त्रिपाठी की तबीयत बिगड़ जाने के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था। बीएल मीणा की दो मार्च को हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का वीडियो भी सामने आया है जिसमें प्रमुख सचिव बीएल मीणा अपने विभाग के निदेशक बालकृष्ण को बहुत बुरी तरह से हड़का रहे है। इसमें उन्होंने एससी-एसटी एक्ट में एफआइआर दर्ज करने की धमकी भी दी।

यह भी पढ़े – ममता और ओवैसी की टक्कर में मुसलमान किसको देगा वोट ?

निदेशक की तबियत बिगड़ने के बाद से ही विभाग में आपसी तनाव की स्थिति बनी हुई है जिसमें लगातार प्रमुख सचिव को पद से हटाने की मांग की जा रही है। इसको लेकर कई बार समाज कल्याण विभाग के मंत्री रमापति शास्त्री से संगठनों की मुलाकात हो चुकी है लेकिन अभी निष्कर्ष नही निकल पा रहा है। विभाग के प्रमुख सचिव बीएल मीणा के दुर्व्यवहार के मामले पहले भी आ चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here