पंजाब मुख्यमंत्री पर आरोप, शराब में धुत, जर्मन एयरलाइंस लुफ्थांसा फ्लाइट में हुई देरी

0
19
Punjab CM Bhagwat Mann
Punjab CM Bhagwat Mann

The leader Hindi: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर आरोप लग रहा है कि उनके शराब के नशे में धुत होने के कारण जर्मन एयरलाइंस लुफ्थांसा (Lufthansa Airlines) की फ्लाइट में देरी हुई. शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने भी मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से मान पर यह आरोप लगाया. इस मामले पर लुफ्थांसा एयरलाइंस की प्रतिक्रिया आई है.
दरअसल, एक यूजर ने विमान कंपनी को ट्विटर पर टैग करते हुए पूछा कि क्या एक भारतीय का नशे में होना निर्धारित उड़ान में देरी के लिए संभावित खतरा बना? इसके जवाब में लुफ्थांसा एयरलाइंस ने लिखा, ”आने वाली उड़ान में देरी और एक विमान परिवर्तन के कारण फ्रैंकफर्ट से दिल्ली के लिए हमारी उड़ान निर्धारित शेड्यूल से देरी से रवाना हुई.पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर आरोप लग रहा है कि उनके शराब के नशे में धुत होने के कारण जर्मन एयरलाइंस लुफ्थांसा (Lufthansa Airlines) की फ्लाइट में देरी हुई.

लुफ्थांसा एयरलाइंस ने यूजर के सवाल का जवाब दिया है लेकिन अभी मामले में उसका आधिकारिक बयान आना बाकी है. एयरलाइंस ने अभी तक इस बात की पुष्टि या खंडन नहीं किया है कि फ्लाइट की देरी में सीएम भगवंत मान शामिल थे या नहीं.

बता दें कि भगवंत मान 11 से 18 सितंबर तक जर्मनी के दौरे पर थे. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि नशे में धुत होने के कारण मान को फ्रेंकफर्ट में लुफ्थांसा के विमान से उतार दिया गया था, जो कि दिल्ली के लिए रवाना होने वाला था. मान पर आरोप लगा कि उनके नशे में होने की वजह से फ्लाइट को उड़ान भरने में देरी हो गई थी.

मामले को लेकर शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर बादल ने मान पर दुनियाभर के पंजाबियों को शर्मिंदा करने तक का आरोप लगाया. सुखबीर बादल ने ट्वीट में लिखा, ”सह-यात्रियों के हवाले से परेशान करने वाली मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को लुफ्थांसा की फ्लाइट से इसलिए उतारा गया क्योंकि उन्होंने इतनी शराब पी रखी थी कि चल भी नहीं पा रहे थे और उड़ान में चार घंटे की देरी हुई. वह आप के राष्ट्रीय अधिवेशन में नहीं जा पाए. इन खबरों ने शर्मसार किया है और दुनियाभर के पंजाबियों को शर्मिंदा किया है.”

उन्होंने आगे लिखा, ”यह चौंकाने वाला है कि पंजाब सरकार अपने मुख्यमंत्री को लेकर इन रिपोर्टों पर चुप है. अरविंद केजरीवाल को मामले पर सफाई देनी चाहिए. भारत सरकार को कदम उठाना चाहिए क्योंकि इसमें पंजाबी और राष्ट्रीय गौरव शामिल है. अगर उन्हें विमान से उतारा गया था तो भारत सरकार को अपने जर्मन समकक्ष के साथ इस मुद्दे को उठाना चाहिए.”मामले को लेकर बीजेपी नेताओं की भी प्रतिक्रियाएं आईं.

बीजेपी नेता प्रवेश वर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि मान ने केजरीवाल से वादा किया था कि वह भारत में शराब को हाथ नहीं लगाएंगे, न कि विदेश में.

आम आदमी पार्टी ने मान को लेकर लगाए जा रहे आरोपों का खंडन किया है. आप प्रवक्ता मलविंदर सिंह कांग ने मीडिया को जानकारी दी कि सीएम मान अपने तय शेड्यूल के अनुसार 19 सितंबर को जर्मनी से फ्लाइट लेकर दिल्ली वापस आ गए थे, इसके लिए वह 18 सितंबर को फ्लाइट में सवार हुए थे. उन्होंने कहा कि सीएम मान पर लगाए जा रहे आरोप निराधार और प्रोपेगेंडा हैं.

ये भी पढ़े:

रामपुर : जौहर यूनिवर्सिटी में छापा, ज़मीन में दफ़्न कूड़ा गाड़ी बरामद और पूर्व सीओ का बेटा गिरफ़्तार